BCCI की कोविड गाइडलाइन:वैक्सीन की डबल डोज वाले ही कानपुर में मैच देख पाएंगे; 48 घंटे पहले की RT-PCR रिपोर्ट भी जरूरी

कानपुरएक वर्ष पहले

कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में 25 नवंबर को भारत बनाम न्यूजीलैंड के बीच टेस्ट मैच है। इसके लिए भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) ने कोरोना गाइडलाइन उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन को जारी की है। BCCI ने साफ किया है कि वैक्सीन की दोनों डोज लगाने वालों को ही मैच देखने की इजाजत मिलेगी। इतना ही नहीं, ग्रीन पार्क में दाखिल होने के लिए 48 घंटे पहले की RT-PCR रिपोर्ट को भी अनिवार्य किया गया है।

कोरोना नियमों को लेकर शासन और BCCI की एक बैठक भी जल्द होने वाली है। इसमें यह तय किया जाएगा कि दर्शकों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बैठाया जाएगा या नहीं। अगर यह लागू हुआ तो दर्शकों की संख्या आधी रह सकती है। अभी टिकट की बिक्री को लेकर भी निर्णय नहीं हुआ है।

कोरोना गाइड लाइन में नही होगी ढिलाई
BCCI की गाइडलाइन के बाद इतना तो तय है कि ग्रीन पार्क में एंट्री के लिए कोरोना नियमों को लेकर नरमी नहीं बरती जाएगी। मास्क और सैनिटाइजर भी जरूरी रखा जाएगा। इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर जिला प्रशासन की माथापच्ची जारी है। ऐसे में अगर स्टेडियम की क्षमता से आधी संख्या में क्रिकेट प्रेमियों को एंट्री मिली तो मैच का मजा भी आधा ही रह जाएगा।

मैच से होने वाली इनकम पर कोरोना ग्रहण लगता दिख रहा है।
मैच से होने वाली इनकम पर कोरोना ग्रहण लगता दिख रहा है।

32 हजार दर्शकों की है ग्रीनपार्क की क्षमता
ग्रीन पार्क स्टेडियम की कुल क्षमता 32000 लोगों को बैठाने की है। इसमें लगभग 28 हजार क्रिकेट प्रेमी बैठ पाते हैं। बाकी पुलिस, प्रशासनिक, UPCA, BCCI, क्रिकेट को प्रसारित करने वाली टीवी चैनल्स के लोगों की संख्या हो जाती है। अब यदि ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग का फॉर्मूला लागू हुआ तो 16000 लोग ही ग्रीन पार्क में प्रवेश कर पाएंगे। जिसमें से 4 हजार दर्शक नहीं होंगे। कुल मिलाकर 12 हजार क्रिकेट प्रेमियों को ग्रीन पार्क के अंदर मैच देखने को मिल पाएगा।

UPCA को होगा घाटा
पांच साल बाद UPCA को मिला मैच फायदा नहीं दे पायेगा। मैच से होने वाली इनकम में कोरोना ग्रहण लगता दिख रहा है। ऐसे में बीच का रास्ता निकालने की कोशिश शुरू हो गई है। अब शासन स्तर से बातचीत के बाद इस पर किसी भी तरह का फाइनल निर्णय हो पाएगा। अगर ग्रीन पार्क में एंट्री में लिए सोशल डिस्टेंसिंग के फॉर्मूला को अपनाया गया तो ग्रीन पार्क की क्षमता के आधे में क्रिकेट प्रेमियों को संतोष करना पड़ेगा।