BCCI चुनाव में भाग नहीं ले पाएगा यूपीसीए उत्तराखंड संघ:देश भर के 30 क्रिकेट संघ ले रहे हिस्सा, 4 दिसंबर को होगा मतदान

कानपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टेस्ट मैच के टूर्नामेंट में एक भी खिलाडी यूपी और उत्तराखंड से सेलेक्ट नहीं किए गए हैं। - Dainik Bhaskar
टेस्ट मैच के टूर्नामेंट में एक भी खिलाडी यूपी और उत्तराखंड से सेलेक्ट नहीं किए गए हैं।

BCCI(भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड) में महत्वपूर्ण पदों के लिए 4 दिसंबर को चुनाव होने हैं। इस बार देश भर के 30 क्रिकेट संघ होने वाले चुनाव में भाग लेंगे। इसमें प्रदेशों की क्रिकेट संघ भी शामिल है। इस चुनाव में उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन (यूपीसीए) और उत्तराखंड संघ को शामिल नहीं किया गया है। इसका असर आने वाले दिनों में दोनों प्रदेशों की सेलेक्ट होने वाली क्रिकेट टीमों पर भी पड़ेगा। इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि टेस्ट मैच के टूर्नामेंट में एक भी खिलाड़ी यूपी और उत्तराखंड से सेलेक्ट नहीं किए गए हैं। बताया जा रहा है कि यूपीसीए के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है।

यूपीसीए की शिकायतों पर BCCI सख्त
पिछले कुछ सालों में यूपीसीए में चुनाव कराने को लेकर आपसी घमासान चली रही है। एक पक्ष 42 साल बाद चुनाव करने पर अड़ा हुआ है। जबकि वर्तमान कमेटी एक बार फिर से आम सहमति से नए जिम्मेदार तय करने पर आमादा है। इसको लेकर कई शिकायतें BCCI को भी की जा चुकी है। यूपीसीए को वोटिंग से बाहर करने के पीछे यही मुख्य वजह बताई जा रही है।

बोर्ड की चुनावी प्रक्रिया में यूपीसीए और उत्तराखंड का कोई भी सदस्य शामिल नहीं हो सकेगा
बोर्ड की चुनावी प्रक्रिया में यूपीसीए और उत्तराखंड का कोई भी सदस्य शामिल नहीं हो सकेगा

छोटे-छोटे प्रदेश और क्रिकेट संघ को मिली जगह

मतदान प्रक्रिया में शामिल नहीं किए जाने से साफ हो चला है कि बोर्ड की चुनावी प्रक्रिया में यूपीसीए और उत्तराखंड का कोई भी सदस्य शामिल नहीं हो सकेगा। प्रदेश का संघ अब बोर्ड के सामने अपनी बात भी नहीं रख पाएगा। इससे प्रदेश के क्रिकेट और क्रिकेटरों को भी खासा नुकसान होना तय है। बीसीसीआई में यूपीसीए की कार्यप्रणाली को लेकर पहले भी कई बार शिकायतें हो चुकी हैं।

निदेशक का दावा- यूपीसीए भी भाग लेगा

यूपीसीए के निदेशक रियासत अली से जब इस बारें में पूछा गया तो वह पहले तो बोले कि ऐसा नहीं है। यूपीसीए BCCI के चुनाव में भाग लेगा। लेकिन, जब उनको बीसीसीआई के निर्णय का पत्र दिखाया गया तो उनके बोल बदल गए। उन्होंने कहा कि यूपीसीए की वार्षिक आम सभा (AGM) की बैठक नहीं होने की वजह से नाम नहीं दिया गया है। 4 दिसम्बर की बीसीसीआई की कमेटी के चुनाव से पहले AGM पूरी करके नाम जुड़वा लिया जाएगा। उन्होंने दावा किया कि यूपीसीए भी भाग लेगा।

खबरें और भी हैं...