घर बनाना अब हुआ महंगा:300 से 700 रुपए प्रति स्क्वायर फीट तक बढ़े रेट, सपनों का घर बनवाने में कतराने लगे लोग

कानपुर2 महीने पहले

घर बनाने में बीते 2 महीनों में बेतहाशा वृद्धि हुई है। सीमेंट से लेकर मोरंग, सरिया के रेट आसमान छू रहे हैं। बीते 2 महीनों में 30% तो बीते 1 साल में 60% तक की वृद्धि बिल्डिंग मटेरियल में हुई है। आलम ये है कि लोगों ने अपने सपनों का घर बनाने से ही किनारा कर लिया है। नॉर्मल घर बनाने में ही करीब 300 रुपए प्रति स्क्वायर फीट तक रेट बढ़ गए हैं। वहीं बडे़ बिल्डिंग कांट्रैक्टर ने तो निर्माण ही रोक दिया है।

सीमेंट के रेट में लगातार बढ़ोतरी जारी है।
सीमेंट के रेट में लगातार बढ़ोतरी जारी है।

30% तक बढ़े रेट
सिविल कांट्रैक्टर अनिल गुरनामी ने बताया कि बीते 2 महीनों में ही घर बनाने में ही सिर्फ 30% तक का इजाफा हो गया है। ईंधन की बढ़ी कीमतों ने सीमेंट और बिल्डिंग मटेरियल के भाव आसमान तक पहुंचा दिए हैं। हालांकि बरसात के मौसम के मुकाबले अभी मोरंग के रेट कुछ कम हैं, लेकिन करीब 5 से 6 रुपए की तेजी मोरंग में भी बनी है।

हर कैटेगरी में बढ़ी कीमत
सिविल कांट्रैक्टर अरविंद यादव ने बताया कि घर बनाने का अगर कोई ठेका देता है तो 3 कैटेगरी में रेट चलते हैं। पहला होता है नॉर्मल, दूसरा डीलक्स और तीसरा सुपर डीलक्स कैटेगरी में घर बनाए जाते हैं। नॉर्मल घर बनाने के रेट पहले जहां 700 से 800 रुपए प्रति स्क्वायर फीट तक थे, अब ये बढ़कर 900 से 1100 रुपए तक पहुंच गए हैं। इसी प्रकार डीलक्स कैटेगरी में अब मकान 1300 रुपए से 1700 रुपए तक हो गए हैं। सुपर डीलक्स कैटेगरी में मकान अब 2 हजार से ढाई हजार रुपए प्रति स्क्वायर फीट तक रेट पड़ रहा है।

मोरंग बीते साल के मुकाबले 7 रुपए फीट तक महंगी है।
मोरंग बीते साल के मुकाबले 7 रुपए फीट तक महंगी है।

सरिया के रेट सबसे ज्यादा बढ़े
100 वर्ग गज में मकान बनाने की बात करें तो पहले सिर्फ निर्माण का खर्च करीब 8 से 10 लाख रुपए तक आता था, लेकिन अब ये बढ़कर 12 से 13 लाख रुपए तक पहुंच गया है। इसमें भी सरिया ने सबसे अधिक बजट बिगाड़ा है।

लोहा कारोबारी देवांशु गुप्ता ने बताया कि सरिया के रेट पिछले कुछ दिनों में कई बार बढ़े हैं। जो सरिया एक महीने पहले तक 6000 से 6500 रुपए क्विंटल थी, अब उसका रेट बढ़कर 8000 से 8500 रुपए प्रति क्विंटल तक पहुंच गया है। दिसंबर से अब तक लोहे का भाव 20 हजार प्रति टन बढ़ गया है। मार्च-2021 की तुलना में अप्रैल-2022 में सीमेंट की कीमतें करीब 60% बढ़ोतरी हो गई है।

सीमेंट के रेट लगातार बढ़ रहे
यूपी में अगले 3 से 4 दिनों में सीमेंट में 25 से 50 रुपए प्रति बोरी के रेट में बढ़ोतरी हो सकती है। इसके पीछे पेट्रोल-डीजल के बढ़े रेट और कोयले का भाव बढ़ना मुख्य कारण है। रूस यूक्रेन युद्ध के कारण ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख खदानों में तापमान के बदलने और इंडोनेशिया की ओर से कोयला निर्यात पर प्रतिबंध लगने से सीमेंट की मांग बढ़ गई है। ईंधन के साथ परिवहन लागत भी बढ़ गई है। पूरे यूपी में 50 प्रतिशत सीमेंट सड़क मार्ग से ही ढोई जाती है।

यूपी में अगले 3 से 4 दिनों में सीमेंट में 25 से 50 रुपए प्रति बोरी के रेट में बढ़ोतरी हो सकती है।
यूपी में अगले 3 से 4 दिनों में सीमेंट में 25 से 50 रुपए प्रति बोरी के रेट में बढ़ोतरी हो सकती है।

इस प्रकार बढ़े निर्माण सामग्रियों के रेट

निर्माण सामग्रीपहलेअब
सीमेंट280 से 300400 रु. बोरी
सरिया38 से 4572 से 90 रु. किलो
गिट्‌टी25 से 2838 रु. फीट
मोरंग20 से 2235 रु. फीट
ईंट4700-50005400 - 5600 रु. प्रति हजार