• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • CM's Order Will Go On Fast Track Court, Deputy CM Keshav Maurya Gave Relief Amount Of 10 Lakhs To The Victim's Family After Reaching Home

रेप-हत्या कांड में सीएम ने पुलिस कमिश्नर को किया तलब:सीएम ने फास्ट ट्रैक कोर्ट में केस चलाने का आदेश दिया, डिप्टी सीएम केशव मौर्य ने पीड़ित परिवार को घर पहुंचकर दी 10 लाख की राहत राशि

कानपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीड़ित परिवार की बहन और मां को डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने 10 लाख रुपए की दी आर्थिक मदद। - Dainik Bhaskar
पीड़ित परिवार की बहन और मां को डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने 10 लाख रुपए की दी आर्थिक मदद।

कल्याणपुर में रेप के बाद 10वीं मंजिल से फेंककर युवती के हत्या के मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कानपुर कमिश्नर असीम अरुण को तलब किया। सीएम ने पूरे मामले की निष्पक्ष जांच का आदेश दिया। इसके साथ ही घटना का केस फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने का आदेश दिया। पांच कालीदास मार्ग पर पुलिस आयुक्त ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की।
CM बोले...वैज्ञानिक साक्ष्य जुटाकर आरोपी को कड़ी सजा दिलाएं
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना की पूरी जानकारी पुलिस आयुक्त से ली और कहा कि पूरे वैज्ञानिक साक्ष्यों के आधार पर यह केस फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाकर अभियुक्त को कड़ी से कड़ी सजा दिलाएं। इससे कि समाज में यह मैसेज जाए कि बेटियों के साथ अत्याचार करने वाले किसी भी सूरत में बच नहीं सकेंगे। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने पुलिस कमिश्नरेट की कानून व्यवस्था के संबध में भी पुलिस आयुक्त से बारीकी से जानकारी ली।
कमिश्नरेट कार्यालय और न्यायालय जल्द बनेगा
इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने कमिश्नरेट कार्यालय और न्यायालय की स्थापना के संबध में भी जानकारी लेते हुए उसे जल्द से जल्द तय स्थान पर स्थापित करने के लिए संबधित अफसरों को निर्देशित किया। मुख्यमंत्री ने आगामी त्योहारों को लेकर पूरी सतर्कता बरतने व कोविड-19 नियमों का पालन सख्ती से करवाने के लिए भी पुलिस कमिश्नर को निर्देश दिया।

पीड़ित परिवार को 10 लाख की आर्थिक मदद, नौकरी का आश्वासन

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य सोमवार शाम को पीड़ित परिवार से मुलाकात करने घर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने आरोपियों को सख्त सजा दिलाने का भरोसा दिलाया। इसके साथ ही पीड़ित परिवार को 10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी। डिप्टी सीएम से पीड़ित परिवार ने एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी देने की मांग रखी और इस पर विचार करने की बात कही। इस दौरान क्षेत्रीय विधायक भगवती प्रसाद सागर, जिला पंचायत अध्यक्ष स्वप्निल वरुण, डीएम विशाख जी, एसपी आउटर अष्टभुजा प्रसाद सिंह समेत क्षेत्रीय नेता व अधिकारीगण मौजूद रहे।

सपा नेताओं को पुलिस ने घेरकर रोका

डिप्टी सीएम के गांव जाने की सूचना पर सोमवार शाम सपा नेत्री रचना सिंह के साथ कई कार्यकर्ताओं को एक्सप्रेस-वे के पास पहुंचने से पहले ही रोक लिया। सपा कार्यकर्ता भाजपा डिप्टी सीएम को काले झंडे दिखाकर विरोध प्रदर्शन करने जा रहे थे। सूचना मिलते ही भारी पुलिस फोर्स पहुंचा और सपा नेताओं को रोक लिया और आगे नहीं जाने दिया।

खबरें और भी हैं...