कानपुर... हैलट में 4 महीने बाद कोरोना का मरीज भर्ती:62 साल की महिला को सांस लेने में परेशानी थी, आइसोलेशन वार्ड में रखा गया

कानपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हैलट अस्पताल - Dainik Bhaskar
हैलट अस्पताल

कानपुर में कोरोना के केस लगातार बढ़ते जा रहे हैं। यहां एक्टिव केस की संख्या 216 हो गई है। बुधवार तक कोई भी मरीज अस्पताल में एडमिट नहीं हुआ था। चार महीने बाद शहर का पहला कोरोना मरीज अस्पताल में भर्ती हुआ। मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. संजय काला ने बताया कि गीता शुक्ला (62) को गुरुवार को कोविड वार्ड में एडमिट किया गया है। उनका ऑक्सीजन लेवल थोड़ा कम था और उन्हें सांस लेने में काफी तकलीफ हो रही थी। हम लोगों ने कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए सभी प्रकार की तैयारियां कर रखी है। इस समय मरीज को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर रखा है। ज़रूरत पड़ने पर उन्हें आईसीयू में भी शिफ्ट किया जाएगा।

चार महीने बाद एडमिट हुआ कोरोना का मरीज

जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज की उप प्राचार्य डॉ ऋचा गिरी ने बताया, हैलट अस्पताल में चार महीने बाद कोरोना का कोई मरीज एडमिट हुआ है। इससे पहले अगस्त के आखिरी हफ्ते में हैलट एडमिट हुए थे कोरोना के मरीज। हम लोगों ने उन्हें कोरोना डेडिकेटेड हॉस्पिटल के आइसोलेशन वार्ड में एडमिट किया है। हमारे डॉक्टर उनको मोनिटर कर रहे हैं।

ओमीक्रोन के मरीजों के लिए बना है अलग वार्ड
कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रोन के लिए अलग वार्ड बनाया गया है। डॉ ऋचा गिरी ने बताया, अभी इस मरीज में ओमीक्रोन की पुष्टि नहीं हुई है। इस वजह से इनको नार्मल कोरोना वार्ड में एडमिट किया गया है। इसके अलावा शहर में मिले दो अन्य ओमीक्रोन के मरीजों को हैलट में शिफ्ट करने की बात चल रहा है।

खबरें और भी हैं...