जीका वायरस के वाहक बने दो मरीज:आइसोलेशन की सलाह के बावजूद शहर में घूमते रहे, सीएमओ की माने तो अभी और बढ़गें मरीज

कानपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो

कानपुर में जीका वायरस अपने पैर पसार रहा है। जीका वायरस के अब तक 10 मरीज सामने आ चुके हैं। इन सभी को घर पर ही आइसोलेट होने की सलाह दी गई है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से संक्रमित मिलने के बाद इलाकों को कंटेनमेंट जोन घोषित भी किया जा रहा है। लेकिन जीका वायरस से संक्रमित दो ऐसे मरीज भी सामने आए हैं जो आइसोलेशन की सलाह के बावजूद शहर भर में घूम रहे हैं और संक्रमण के वाहक बन रहे है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से उन मरीजों को लगातार ट्रेस करने की कोशिश की जा रही है लेकिन वह उनकी पहुंच के बाहर है। सीएमओ डॉ नेपाल सिंह ने बताया, जिन मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है उन लोगों को अपने घरों पर ही रहने की सलाह दी गयी थी लेकिन कुछ लोग इसे नहीं मान रहे है।

दो जीका संक्रमित लोग घूम रहे है शहर भर में...
सूत्रों की मानें तो शहर के हरजिंदर नगर और काकोरी के रहने वाले संक्रमित लोग अपना घर छोड़ कर अपने रिश्तेदारों के घर किदवई नगर व कोयला नगर इलाके में घूम रहे है। सीएमओ डॉ नेपाल सिंह ने बताया, मरीजों में संक्रमण सामने आने के बाद स्वास्थ विभाग की ओर से उन्हें घर पर ही आइसोलेट रहने की सलाह दी गई थी क्योंकि उनमे किसी प्रकार के लक्षण नहीं दिखाई दे रहे थे। लेकिन इन संक्रमितों ने स्वास्थ विभाग की सलाह को न मानते हुए आइसोलेशन तो दूर घर पर रहना भी उचित नहीं समझा। यह मरीज शहर भर में खुलेआम घूम रहे हैं और जीका वायरस के संक्रमण के वाहक बन रहे हैं।

बढ़ सकते है मरीज...
सीएमओ डॉ नेपाल सिंह ने बताया, जिस तरह से लोग इस बीमारी को गंभीरता से नहीं ले रहे है। संक्रमित लोग अगर प्रोटोकॉल नहीं शहर में यह बीमारी और भी बढ़ सकती है।

खबरें और भी हैं...