पार्लर में सजते है कान्हा,महीनों पहले होती है बुकिंग:कानपुर में भक्तों की डिमांड पर तैयार होती है ड्रेस, दुल्हन की तरह सजाएं जाते है लड्डू गोपाल

कानपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लड्डू गोपाल का मेकअप करती महिला। - Dainik Bhaskar
लड्डू गोपाल का मेकअप करती महिला।

भगवान कृष्ण का का एक ऐसा बुटीक और ब्यूटी पार्लर हैं, जिसमे बाल गोपाल की ख़ूबसूरती में चार चांद लगाने का कार्य किया जाता है। कृष्ण जी की सुंदरता में कहीं कोई कहर न बाकी रह जाये इसके लिये उनको भक्तों की डिमांड के हिसाब से सजाया जाता है। भक्तों के कहने पर कृष्ण की प्रतिमा को ब्यूटी पार्लर में मेकओवर किया जाता है, कह सकते है कि उनको दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है।

त्वचा की रंगत से मैच करता फाउंडेशन, पोशाक के कंट्रास्ट का आईशैडो और गालों को उभारते हुए ब्लशर के स्ट्रोक। यह मेकअप किसी और का नही बल्कि राधा रानी के साथ विराजने वाले भगवान श्री कृष्ण का है। गीता नगर के ब्यूटी पार्लर में कान्हा को कुछ इसी तरह से संवारा जाता है। पार्लर की संचालिका अंजली खंडेलवाल है। जो देव बुटीक के नाम से भगवान को सजाने की सभी सामग्री रखती हैं।

लड्डू गोपाल के मेकअप को महीनों पहले से होती है बुकिंग

लड्डू गोपाल को सजाने और सवांरने के लिये लोगों को काफी पहले बुकिंग करानी पड़ती है। यहां आने वाले भक्त लड्डू गोपाल को परिवार के सदस्यों की तरह सजाते सवारते हैं। भक्तों की मांग पर भगवान श्री कृष्ण को जन्माष्टमी पर विशेष मेकअप का पैकेज भी दिया जाता है। इसमें अष्टधातु की मूर्ति पर विशेष रूप से तैयार चंदन और केसर का फेस पैक इस्तेमाल किया जाता है।

लड्डू गोपाल का मेकअप करती महिला
लड्डू गोपाल का मेकअप करती महिला

भक्तों की फरमाइश पर तैयार होती है कन्हैया की ड्रेस

अंजलि खंडेलवाल ने बताया कि भक्तों की फरमाइश पर बाल गोपाल को संवारने के लिए लिपस्टिक, काजल, आईलाइनर तक का इस्तेमाल किया जाता है। इस विशेष ब्यूटी पार्लर के कदरदान विदेशों में भी हैं। पूरे देश में देव बुटीक से भगवान के आकर्षक वस्त्रों को लोग मंगवाते हैं और अपने लड्डू गोपाल को इन वस्तुओं से सजाते हैं। देशभर में उनके मेकअप और ड्रेस से मथुरा वृंदावन इलाहाबाद बरेली दिल्ली लखनऊ तक के मंदिरों में भगवान शोभायमान होते हैं।

दरअसल, बाज़ार में मिलने वाले भगवान के वस्त्र को फिट करना पड़ता है, लेकिन यहां बुटीक में भगवान की नाप लेकर उनके खास कपड़े भी तैयार किए जाते हैं। जो यहां की सबसे बड़ी खासियत है। शायद इसीलिए यहां भक्त स्वयं लड्डू गोपाल को लेकर उन्हें तैयार करवाने आती हैं।

कनपुरिया लुक में कृष्ण कन्हैया

रंग बिरंगे वस्त्र, मोरपंख, मुकुट, अंगूठी, कमर करधनी, पायल, बाजू बन्द, मोती की माला, कंगन, गोटा से सजे वस्त्र, फेसपैक, मसखरा, आई शैडो, आई लाइनर, के जरिये मुरली मनोहर को नया उजला स्वरूप दिया जाता है। भगवान कृष्ण से जुड़ी सभी सामग्री यहां तैयार की जाती है इनमें लड्डू गोपाल का झूला और ड्रेस की खासियत उसका कनपुरिया लुक होता है। डिजाइनर भगवान के कपड़ों में कानपुर के कंट्रास्ट कल्चर को जरूर करते हैं। इस बार यहां पर तैयार कपड़ों से अन्य प्रदेशों के मुरली मनोहर के मंदिरों में भी सजावट देखने को मिलेगी।

खबरें और भी हैं...