प्रबुद्ध सम्मेलन के बहाने ब्राह्मणों को मनाने में जुटे भाजपाई:कानपुर में गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र बोले- आक्रांता कलंक हैं, शहरों के नाम बदलने का सिलसिला जारी रहेगा

कानपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
केंद्र सरकार में गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र कानपुर के चौबेपुर ब्लॉक के एक गांव के ही रहने वाले हैं। BNSD इंटर कॉलेज से इन्होंने शिक्षा ली है। - Dainik Bhaskar
केंद्र सरकार में गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र कानपुर के चौबेपुर ब्लॉक के एक गांव के ही रहने वाले हैं। BNSD इंटर कॉलेज से इन्होंने शिक्षा ली है।

भाजपा प्रबुद्ध सम्मेलन के बहाने ब्राह्मणों को मनाने में जुटी हुई है। इसी कड़ी में कानपुर देहात के रानियां अकबरपुर से विधायक प्रतिभा शुक्ल ने भाजपा प्रबुद्ध सम्मेलन का आयोजन करके ब्राह्मणों को एकजुट करने का संदेश देने का काम किया। गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र ने यहां कहा कि विदेशी आक्रमणकारियों के नाम पर प्रमुख मार्गों और शहरों के नाम बदलने का काम चलता रहेगा। यह कलंक है, इनको तो मिटना ही होगा।

इस दौरान जय श्री राम जय परशुराम के नारे भी लगाए गए। हिंदुत्व के बहाने ब्राह्मणों को एक जुट दिखाने की कोशिश भी की गयी।

भाजपा राष्ट्रवादी सोच रखती हैं, जातिवादी नहीं

अजय मिश्र ने कहा कि वर्तमान राजनीतिक स्थिति में हमारी सोच कैसी हो, इस पर चर्चा करनी होगी। प्रबुद्ध सम्मेलन केवल ब्राह्मणों का सम्मेलन नहीं है। राष्ट्र के सम्मान को बढ़ाने के लिए हम सभी को मिलकर काम करना होगा। हिंदुस्तान एक आध्यात्मिक देश है। हमारी पहचान धर्म और शिक्षा रही है।

आज प्रबुद्ध सम्मेलन के नाम पर जातिगत सम्मेलन हो रहे हैं। जबकि भाजपा प्रबुद्ध सम्मेलन में देश की चिंता कर रही हैं। उन्होंने कहा कि महिलाओं के शशक्तिकरण, रोजगार, सड़क, बिजली, ट्रेन, अच्छी कानून व्यवस्था पर काम करने के लिए भाजपा सरकार को चुना गया है।

अपमान से जुड़े नाम बदले जाते रहेंगे

उन्होंने कहा कि बाबर, लोधी, गजनी, गोरी जैसे आक्रांताओं ने भारत में लूट के साथ धर्म पर हमला किया। मंदिर मठों को तहस-नहस किया गया। हमारी व्यवस्था को नष्ट किया गया। इसके पुनर्निर्माण की ज़रूरत है। प्रधानमंत्री ने अपने देश की संस्कृति को विश्व पटल पर रखा। शहरों और सड़कों का नाम बदलने का काम भाजपा करती रहेगी। क्योंकि जो चिन्ह देश के अपमान से जुड़े हुए हैं, उन्हें बदलना होगा। अबकी बार कश्मीर में लोगों ने अपने घरों में तिरंगा फहराया, कृष्ण की झांकी लाल चौक में निकाली गई। भाजपा सत्ता के माध्यम से देशवाशियों को सुविधा संपन्न बनाने का काम कर रही है।

ब्राह्मण नेता बनने की कोशिश में अनिल शुक्ल

पूर्व सांसद अनिल शुक्ल वारसी ने प्रबुद्ध सम्मेलन आयोजित कर खुद का कद बढ़ाने की कोशिश की। पिछले कुछ समय से कई ब्राह्मण नेता खुद को ब्राह्मणों का नेता साबित करने में लगे हैं। आज के प्रबुद्ध सम्मेलन के माध्यम से कुछ ऐसा ही अनिल शुक्ल वारसी भी करते नजर आए। उनका दावा है कि एक मंदिर बनाया जाएगा। जिसमें 25 करोड़ की मूर्ति भगवान परशुराम की लगाई जाएगी।

गृहराज्य मंत्री का है कानपुर से गहरा नाता

केंद्र सरकार में गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र कानपुर के चौबेपुर ब्लॉक के एक गांव के ही रहने वाले हैं। BNSD इंटर कॉलेज से इन्होंने शिक्षा ली है। क्राइस्ट चर्च कॉलेज से ग्रेजुएशन किया है। DAV लॉ से वकालत की पढ़ाई की हुई है। कानपुर से ही पढ़े अजय मिश्र को मोदी सरकार में गृह मंत्री अमित शाह के साथ काम करने का मौका मिला है।

खबरें और भी हैं...