• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Father Said... If I Had Investigated After Writing The Missing, My Daughter Would Have Survived, Why The Police, Who Told Suicide, Did Not Have An Answer To Any Question

कानपुर की टेलीकॉलर हत्याकांड में पुलिस पर सवाल:पिता ने पुलिस की सुस्ती को दोष दिया, बोले- गुमशुदगी पर एक्शन लेते तो बच जाती जान

कानपुर7 महीने पहले

चकेरी श्याम नगर के गिरजा नगर से लापता टेलीकॉलर युवती की मौत के मामले में पुलिस की भूमिका पर सवाल उठ रहे हैं। पहले गुमशुदगी पर पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया और अगले दिन जब रेलवे ट्रैक पर युवती का शव मिला तो इसे सुसाइड बता दिया। रेलवे ट्रैक किनारे पेट्राल की बोतल मिलने का तर्क देकर पुलिस इसे आत्मदाह बताने में लगी रही। जब परिजनों ने सवाल उठाए तब पुलिस ने इसमें अपहरण और हत्या का मामला दर्ज किया है। युवती के पिता का कहना है कि यदि पुलिस गुमशुदगी पर एक्शन ले लेती तो बेटी की जान बच जाती।

ज्योति (फाइल फोटो)
ज्योति (फाइल फोटो)

परिजनों का आरोप...गुमशुदगी लिखकर चकेरी पुलिस ने पल्ला झाड़ लिया
श्याम नगर के गिरिजा नगर निवासी संतोष कुमार मिश्रा की बेटी ज्योति (23) सोमवार को ऑफिस के लिए निकली, लेकिन घर नहीं लौटी। इसके बाद पिता ने चकेरी थाने में बेटी की गुमशुदगी दर्ज कराई थी। इसके बाद भी चकेरी पुलिस हरकत में नहीं आई और अगले दिन मंगलवार भाभा नगर में रेलवे लाइन किनारे जला हुआ शव बरामद हुआ। अगर पुलिस समय रहते कॉल डिटेल समेत अन्य जांच करती तो शायद यह नहीं होता।

अब पुलिस अपनी नाकामी छिपाने के लिए नृशंस हत्याकांड को आत्महत्या बताने में जुटी है। परिजनों के हंगामा-बवाल के बाद मंगलवार रात को चकेरी पुलिस ने अमित कुमार और युवती विमल को हिरासत में लिया है। परिजनों की तहरीर पर अपहरण, हत्या और साक्ष्य मिटाने की धारा दर्ज करके मामले की जांच कर रही है।
परिजनों के पांच सवाल....?

  • बेटी ने रेलवे लाइन किनारे आत्मदाह किया तो किसी ने देखा क्यों नहीं? किसी ने चीखें क्यों नहीं सुनीं?
  • बेटी रेलवे ट्रैक किनारे कभी नहीं गई, वहां आग लगाने के लिए कैसे पहुंच गई?
  • यदि आत्मदाह है तो 90 फीसदी शव कैसे जल गया?
  • बेटी के लापता होने के बाद पुलिस ने क्या किया? सिर्फ गुमशुदगी लिखकर पल्ला क्यों झाड़ लिया?

आज होगा अंतिम संस्कार
मृतक युवती के भाई आनंद तिवारी ने बताया कि बुधवार सुबह उसका अंतिम संस्कार किया जाएगा। सभी रिश्तेदार उनके घर पहुंच चुके हैं। कहा है कि अगर पुलिस मामले में हत्यारोपियों पर कार्रवाई और पूरे मामले का सही खुलासा नहीं करेगी तो सड़क पर उतरकर पूरा परिवार संघर्ष करेगा।

ये था पूरा मामला....
श्याम नगर के गिरिजा नगर निवासी संतोष कुमार मिश्रा की बेटी ज्योति (23) शिवकटरा ऑफिस जाने के लिए निकली, लेकिन घर नहीं लौटी। इस पर परिजनों ने सोमवार को चकेरी थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। मंगलवार को भाभा नगर स्थित रेलवे ट्रैक के पास ज्योति का जला हुआ शव पड़ा मिला। मौके पर पहुंची पुलिस को घटनास्थल के पास एक बैग और मोबाइल मिला। इससे पुलिस ने शिनाख्त की।