• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • FIR Will Also Be Registered Against Tehsil Personnel, Action Will Be Taken Against 15 Property Dealers , Property In Kanpur, Kanpur Tehsil Sadar, Maksudabad Property Kanpur, Kanpur DM, Kanpur

सरकारी जमीन मामले में लेखपाल सस्पेंड:तहसील कर्मियों पर भी दर्ज होगी FIR, 15 प्रॉपर्टी डीलरों पर कार्रवाई

कानपुर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बीते दिनों डीएम विशाख जी ने भी जमीन मामले में किया था निरीक्षण। - Dainik Bhaskar
बीते दिनों डीएम विशाख जी ने भी जमीन मामले में किया था निरीक्षण।

मकसूदाबाद में 200 करोड़ रुपए की सरकारी जमीन बेचने के आरोपी से अवैध वसूली में लेखपाल अमित दीक्षित को सस्पेंड कर दिया गया है। फर्जी दर्ज 15 नाम व इन्हें चढ़ाने वाले तहसील कर्मचारियों के खिलाफ FIR दर्ज कराने के लिए कोतवाली में तहरीर भेजी गई है।

15 प्रॉपर्टी डीलरों पर कार्रवाई
सरकारी जमीन को फर्जी तरीके से बेचने के मामले में 15 प्रॉपर्टी डीलरों के खिलाफ बिठूर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद टिकरा में तैनात लेखपाल अमित दीक्षित पर एसडीएम सदर हिमांशु नागपाल ने कार्रवाई की है। अमित दीक्षित कई साल तक मकसूदाबाद में भी तैनात रह चुका है।

बता दें कि लेखपाल और तहसील कर्मियों की मिलीभगत से 105 बीघा 8 बिस्वा सरकारी जमीन 15 लोगों के नाम दर्ज हो गई थी। जमीन की अनुमानित कीमत करीब 200 करोड़ रुपए है।

सरकारी जमीन कब्जाकर अवैध प्लाटिंग कर दी गई है।
सरकारी जमीन कब्जाकर अवैध प्लाटिंग कर दी गई है।

पैसा मांगने को ऑडियो वायरल
अमित का ऑडियो अक्षरा इंफ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड के चीफ एग्जीक्यूटिव विमलेश कुमार को केस से बाहर निकलवाने के बदले में पैसा मांगने का वायरल हो रहा है। उधर, फर्जी तरीके से मकसूदाबाद में ग्रीन बेल्ट की जमीन पर फर्जी नाम चढ़ाने वाले कर्मचारी व दर्ज लोगों के खिलाफ भी तहरीर भेजी है।

इन पर रिपोर्ट दर्ज होगी
सिविल लाइंस निवासी राजेंद्र शंकर चौधरी, फतेहपुर निवासी सत्य नरायन, जनरलगंज निवासी जयनरायन, जवाहर नगर निवासी शिवनाथ, कल्याणपुर निवासी रमेश चंद्र, अशोक नगर के लक्ष्मीशंकर, निर्मल सिंह, प्यारी पत्नी चंद्रभाल आदि के नाम जमीन दर्ज हो गई थी।

लेखपाल खुद दे रहा सफाई
वायरल ऑडियो में पड़ोस के गांव में तैनात होने के बावजूद अमित खुलेआम विमलेश कुमार से डील कर रहा है। अफसरों ने कार्रवाई के नाम पर सिर्फ सस्पेंड किया है। बातचीत में अमित रिपोर्ट दर्ज होने पर खुद सफाई दे रहा था कि रिपोर्ट से कोई लेना-देना नहीं है।

कई लोगों ने घर भी बना लिए हैं। सभी पर बुलडोजर चलाने की तैयारी है।
कई लोगों ने घर भी बना लिए हैं। सभी पर बुलडोजर चलाने की तैयारी है।

जिनसे पैसे मिले उन्हें छोड़ा
लेखपालों ने एसडीएम सदर की कार्रवाई पर पानी फेरने के पूरे मंसूबे तैयार कर लिए थे इसलिए कार्रवाई की जानकारी होने से पहले ही मौके पर डील की गई। इसका खुलासा खुलेआम ऑडियो में विमलेश कर रहा है। उसके मुताबिक 50 हजार लिए गए।

डीएम ने कहा कड़ी कार्रवाई होगी
मामले में डीएम विशाख जी ने बताया कि SDM सदर को हर स्थिति को देखने का निर्देश दिया गया है। वायरल ऑडियो में बातचीत काफी गंभीर है। उसका रिव्यू कराकर दोषी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।