पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • For Underground Metro Construction, Traffic Diversion Was To Be Done From The New Market For 2 Years, Due To Lack Of Preparations, It Was Not Implemented From 21, Kanpur Metro, UPMRC, Naveen Market, Pared Chauraha, Bada Chauraha, Chunniganj, Underground Metro, Kanpur

आज से लागू नहीं होगा कानपुर में ट्रैफिक डायवर्जन:अंडरग्राउंड मेट्रो निर्माण के लिए 4 चौराहों से ट्रैफिक डायवर्ट किया जाना था, तैयारियां न होने से लागू नहीं हुआ

कानपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कानपुर मेट्रो ने फिलहाल डायवर्जन की डेट का आगे बढ़ा दिया है। - Dainik Bhaskar
कानपुर मेट्रो ने फिलहाल डायवर्जन की डेट का आगे बढ़ा दिया है।

कानपुर मेट्रो निर्माण के लिए शहर में 2 साल के लिए 4 प्रमुख चौराहों पर ट्रैफिक डायवर्जन किया जाना था। 21 जुलाई को नवीन मार्केट से ट्रैफिक डायवर्जन किया जाना था। लेकिन अभी तक ट्रायल भी नहीं किया जा सका है। इसको देखते हुए कानपुर मेट्रो ने फिलहाल डायवर्जन की डेट का आगे बढ़ा दिया है। नई डेट अभी निर्धारित नहीं है।
आराम से जाएं लोग
शहर में चुन्नीगंज से नयागंज के बीच 4 किमी. लंबे अंडरग्राउंड मेट्रो कॉरिडोर का निर्माण होना है। इस सेक्शन में 4 अंडरग्राउंड स्टेशन चुन्नीगंज, नवीन मार्केट, बड़ा चौराहा और नयागंज का निर्माण होना है। इन स्टेशनों के निर्माण से पहले चारों जगहों पर ट्रैफिक डायवर्जन किया जाएगा। इसे 2 साल के लिए लागू किया जाएगा। ट्रैफिक पुलिस के मुताबिक पहले ट्रायल किया जाएगा, इसके बाद डायवर्जन को लागू किया जाएगा। डायवर्जन लागू न होने से लोग आराम से जा सकते हैं।
20 जुलाई तक मांगे गए थे सुझाव
यूपीएमआरसी और कानपुर ट्रैफिक पुलिस ने लोगों से सोशल प्लेटफॉर्म पर सुझाव मांगे थे। कुछ सुझावों पर भी विचार किया जा रहा है। कानपुर मेट्रो ने मंगलवार देर शाम को ट्रैफिक डायवर्जन न लागू करने की सूचना दी। नई डेट फिलहाल तय नहीं की गई है।
पहले दिन से महफूज चलेगी मेट्रो
मंगलवार को पुलिस कमिश्नर ने अधिकारियों के साथ मेट्रो और उसके स्टेशनों की सुरक्षा व्यवस्था को परखा। निरीक्षण के पीछे का मकसद था कि जल्द ही चलने वाली मेट्रो जब चले तो पूरी तरह से महफूज और पहले दिन से ही फुलप्रूफ सुरक्षा घेरे में चले। उन्होंने मेट्रो अधिकारियों के साथ मेट्रो स्टेशन और यार्ड को भी देखा। इस दौरान उनका फोकस था कि पहले दिन से ही कैसे मेट्रो को सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजामों के बीच हरी झंडी दिखाई जाए।

खबरें और भी हैं...