कानपुर...रेलवे दुर्घटनाओं को रोकने के लिये दी गई ट्रेनिंग:लोको पायलट क्लास रूम में सेमिनार का हुआ आयोजन, आपात स्थिति में ट्रेन पर काबू पाने के बताए गए तरीके

कानपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रेलवे लोको के पायलट क्लास रूम में खास ट्रेनिंग लेते रेलवे ड्राइवर और कर्मचारी - Dainik Bhaskar
रेलवे लोको के पायलट क्लास रूम में खास ट्रेनिंग लेते रेलवे ड्राइवर और कर्मचारी

रेलवे ने लोको में बुधवार को विशेष ट्रेनिंग सेशन का आयोजन किया। आयोजित संरक्षा सेमिनार में रेलयात्रियों को सुरक्षित और समयबद्ध यात्रा उपलब्ध कराने के गुर सिखाये गए। आपको बता दे कि भारतीय रेलवे में उत्तर मध्य रेलवे सबसे ज्यादा बीजी और महत्वपूर्ण मण्डल है। ऐसे में इस मंडल की जिम्मेदारियां भी कहीं ज्यादा हो जाती है। सुचारु रूप एवं दुर्घटना रहित रेल परिचालन सुनिश्चित करने के उद्देश्य से कानपुर के लोको पायलट क्लास रूम में संरक्षा सेमिनार का आयोजन किया गया। इस सेमीनार में रेल परिचालन से संबंधित विभिन्न व्यवहारिक पहलुओं को बड़ी बारीकी से समझाया गया।

ख़ास बिंदुओं पर किया गया फोकस,

1 आल राइट सिंग्नल का महत्व एवं न मिलने पर कार्यवाही। 2 जर्क मिलने पर लो.को.पायलट द्वारा की जाने वाली कार्यवाही। 3 इंजन या ट्रेन में आग लगने पर कार्यवाही। 4 शंटिंग के दौरान वरती जाने वाली सावधानिया एवं कॉशन का पालन। 5 दुर्घटना होने पर लोको पायलट द्वारा की जाने वाली कार्यवाही। बुधवार को कुल 49 कर्मचारियों को ट्रेनिंग दी गयी। इस अवसर पर संरक्षा सलाहकार चंद्रिका प्रसाद, मुख्य लोको निरीक्षक किशोरी लाल और एस.के.कनौजिया भी उपस्थित रहे

खबरें और भी हैं...