• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Gross Negligence Found In City Buses, 14 Drivers Sacked, 13 Conductors Suspended, 6 Officers Including Commissioner Had Prepared A Report By Traveling In Buses, City Bus, Kanpur Commissioner, Rawatpur, Harsh Nagar, Parivahan Vibhag, Kanpur

कानपुर कमिश्नर यात्री बनकर बसों में घूमे:देखा- कंडक्टर ने यात्री से किराया लेकर भी नहीं दिया टिकट; फौरन 14 ड्राइवर, 13 कंडक्टर सस्पेंड किए

कानपुर5 महीने पहले
सिटी बसों में व्यवस्थाओं को चेक करने के लिए कमिश्नर ने मंडल स्तर के 6 अधिकारियों की टीम बनाई गई थी। सभी ने बसों में यात्री बनकर सफर किया।

कानपुर में परिवहन निगम की व्यवस्थाएं और सिटी बसों की हालत जानने के लिए कमिश्नर डॉ. राजशेखर आम आदमी बनकर बसों में सफर करने निकल पड़े। गुरुवार दोपहर उन्होंने अलग-अलग 2 सिटी बसों में यात्री बनकर सफर किया। सड़कों पर बेतरतीब दौड़ती सिटी बसों को देखकर वह हैरान हो गए। कमिश्नर ने देखा कि एक यात्री से बस कंडक्टर ने रुपए भी लिए और उसे टिकट भी नहीं दिया। सिटी बसों के ड्राइवर से लेकर कंडक्टर तक, कोई भी कोविड गाइडलाइंस का पालन करता नहीं मिला। बसों से बुनियादी सुविधाएं भी नदारद दिखीं।

14 ड्राइवर और 13 कंडक्टर पर कार्रवाई
सिटी बसों में व्यवस्थाओं को जांचने के लिए कमिश्नर ने मंडल स्तर के 6 अधिकारियों की टीम बनाई। सभी ने 12 बसों का सफर किया और हालात की पूरी रिपोर्ट तैयार करके कमिश्नर को दी। इसके बाद कमिश्नर ने 14 ड्राइवर और 13 कंडक्टर को सस्पेंड कर दिया। इस कार्रवाई से परिवहन विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। अब कमिश्नर ने 9 सितंबर को परिवहन विभाग के अफसरों की बैठक बुलाई है।

यात्रियों के साथ पीली टीशर्ट में बैठे कमिश्नर।
यात्रियों के साथ पीली टीशर्ट में बैठे कमिश्नर।

मास्क की वजह से किसी ने नहीं पहचाना
सिटी बसों का हाल जानने के लिए कमिश्नर राज शेखर सामान्य यात्री बनकर 2 बसों में घूमे। इस दौरान यात्रियों की ​तरह उन्होंने टिकट खरीदे। कमिश्नर के चेहरे पर मास्क लगा होने की वजह से उन्हें कोई पहचान नहीं सका। उन्होंने देखा कि बसों के ड्राइवर और कंडक्टर न तो खुद मास्क लगा रहे हैं और न ही यात्रियों को मास्क लगाने की कह रहे हैं। किसी ने भी अपनी निर्धारित वर्दी नहीं पहनी थी। बसों में फर्स्ट एड बॉक्स उपलब्ध नहीं था और न ही एलईडी डिस्प्ले बोर्ड काम कर रहा था। बसों का रखरखाव भी बेहद खराब था।

यात्री से पैसे लिए और टिकट नहीं दिया
कमिश्नर ने बताया कि एक मामले में कंडक्टर ने टिकट के लिए एक यात्री से पैसे लिए लेकिन उसे टिकट नहीं जारी किया। बसों में सवार यात्री भी मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन नहीं कर रहे थे।

सिटी बसों का रखरखाव भी बेहद घटिया पाया गया।
सिटी बसों का रखरखाव भी बेहद घटिया पाया गया।

यह हुई कार्रवाई

  • लापरवाही और खराब रखरखाव के लिए परिवहन विभाग के प्रवर्तन दल के सभी सदस्यों के खिलाफ विभागीय जांच होगी।
  • बसों का रखरखाव और ड्राइवर उपलब्ध कराने वाली निजी एजेंसी को कारण बताओ नोटिस जारी करके ब्लैक लिस्ट किया जाए।
  • लापरवाही और खराब देखरेख के लिए एआरएम (सिटी बस सेवाएं) को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया।

कमिश्नर ने इन बसों में किया सफर

  • यूपी 78 BT 5708 हर्ष नगर से चुन्नीगंज तक।
  • यूपी 78 BT 5698 रावतपुर से हर्ष नगर तक।

इन अधिकारियों ने भी किया सिटी बसों में सफर

  • अभय कुमार शाही, उपनिदेशक पंचायत
  • अखिलेश बाजपेई, उप निदेशक दिव्यांग कल्याण
  • डीके सिंह, संयुक्त निदेशक, कृषि
  • राजेश शाही, सहायक निदेशक, बेसिक शिक्षा
  • मनोज कुमार, अधिशाषी अभियंता, टीएसी
  • अखिलेश कुमार, अधिशाषी अभियंता, लघु सिंचाई
खबरें और भी हैं...