• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Kanpur Murder Case Latest Updates। He Died On The Spot After Being Shot On The Forehead, The Father Accused Of Murder For Not Paying The Kidnapping Money, The Police Engaged In The Investigation

कानपुर में पॉलीटेक्निक छात्र की गोली मारकर हत्या:किसी दोस्त के बुलाने पर घर से निकला था, रास्ते में कनपटी पर गोली मार भाग निकले बदमाश, 5 माह पहले अपहरण भी हुआ था

कानपुरएक वर्ष पहले
  • पिता ने कहा- फिरौती की रकम बाद में देने के वादे पर अपहरणकर्ताओं ने छोड़ा था, उन्हीं लोगों ने मारा

कानपुर के घाटमपुर में बुधवार रात पॉलीटेक्निक छात्र की बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। बदमाशों ने कनपटी पर गोली मारी। इसके बाद आरोपी मौके से भाग निकले। पिता ने अपहरण के बाद फिरौती की रकम नहीं देने पर हत्या का आरोप लगाया है। पांच महीने पहले छात्र का अपहरण हुआ था। बाद में फिरौती की रकम देने की बात कहने पर बदमाशों ने उसे छोड़ दिया था। इसके साथ ही कुछ लोगों पर रंजिश में हत्या का भी शक जताया है। घाटमपुर पुलिस केस दर्ज कर हत्याकांड के खुलासे का प्रयास कर रही है।

हत्यारों ने बीच सड़क हत्याकांड को दिया अंजाम
घाटमपुर के आछी मोहाल पूर्वी मोहल्ले में रहने वाले गिरीश चंद्र सचान का घर के पास ही आइसक्रीम पार्लर है। गिरीश ने बताया कि उनका इकलौता बेटा हर्षित (20 साल) झांसी से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में पॉलीटेक्निक कर रहा था। कोरोना के चलते कॉलेज बंद चल रहा था। इसलिए वह पिछले कुछ महीनों से घर पर ही था।

बुधवार रात को हर्षित अपनी दुकान से किसी दोस्त के यहां जाने की बात कहकर निकला था। स्टेशन रोड के पास हाईवे किनारे पहुंचा ही था कि बाइक सवार तीन बदमाशों ने उसे रोका और गाली-गलौज करते हुए सीधे कनपटी पर गोली मार दी। इसके बाद बाइक से तीनों भाग निकले। वहां मौजूद लोगों ने पुलिस को सूचना दी और उसे सीएचसी ले गए। यहां से उसे कानपुर के हैलट अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया। हैलट में जांच के बाद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

छात्र हर्षित।- (फाइल फोटो)
छात्र हर्षित।- (फाइल फोटो)

पिता की तहरीर पर केस दर्ज
घटना की सूचना पाकर एसपी आउटर अष्टभुजा प्रसाद, सीओ और फॉरेंसिक टीम मौके पर जांच करने पहुंची। एसपी आउटर ने बताया कि तहरीर के आधार पर एफआईआर दर्ज की जा रही है। पिता ने 6 महीने पहले बेटे का अपहरण करने वालों और कुछ लोगों पर रंजिश में हत्या का शक जताते हुए तहरीर दी है।

फिरौती की रकम नहीं देने पर इकलौते बेटे को मार डाला
पिता गिरीश चंद्र ने बताया कि छह माह पहले हर्षित का अपहरण हुआ था। पांच लाख रुपए की फिरौती मांगी गई थी। रुपए देने का आश्वासन देने पर उन्होंने मार पीटकर हर्षित को छोड़ा था। पिता का कहना है कि उक्त आरोपियों से पुराना विवाद है। कई बार फोन पर गोली मारने की धमकी भी मिली थी।

अस्पताल में विलाप करती छात्र की मां और बहन।
अस्पताल में विलाप करती छात्र की मां और बहन।

कॉल डिटेल और CCTV फुटेज की जांच में जुटी पुलिस

एसपी आउटर अष्टभुजा प्रसाद ने बताया कि हत्याकांड से सौ-दो सौ मीटर दूर लगे CCTV फुटेज खंगालकर हत्यारों की शिनाख्त करने का प्रयास किया जा रहा है। इसके साथ ही हर्षित की कॉल डिटेल की भी जांच की जाएगी। आखिर उसे कॉल करके किसने मिलने बुलाया था।

खबरें और भी हैं...