• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Hundreds Of Lives Were Saved In The Second Wave Of Corona, Now Ready For The Third Wave, DGP Will Also Hold A Meeting With Police Officers And Public Representatives

कानपुर में पुलिस वालों का अब 'अपना अस्पताल':DGP मुकुल गोयल ने पुलिस लाइन में अस्पताल का उद्घाटन किया, 16 मरीजों के भर्ती होने का यहां इंतजाम

कानपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कानपुर में पुलिस हॉस्पिटल का डीजीपी ने उद्घाटन किया। - Dainik Bhaskar
कानपुर में पुलिस हॉस्पिटल का डीजीपी ने उद्घाटन किया।

डीजीपी मुकुल गोयल ने रविवार को कानपुर में पुलिस हॉस्पिटल का उद्घाटन किया। कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए यह हॉस्पिटल तैयार किया गया गया है। पुलिस कमिश्नर का दावा है कि प्रदेश में पहला संसाधनों से सुसज्जित पुलिस हॉस्पिटल है। जहां पर इतनी ज्यादा सुविधाएं उपलब्ध हैं। कोरोना की दूसरी लहर में सैकड़ों लोगों की जान बचाई थी। अब इसे तीसरी लहर के लिए तैयार किया गया है। इसके बाद डीजीपी पुलिस अफसरों और जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक भी करेंगे।

कार्यक्रम में मौजूद डीजीपी और मेयर।
कार्यक्रम में मौजूद डीजीपी और मेयर।

एक एमबीबीएस आईपीएस की पहल ने बदल दी अस्पताल की सूरत
कानपुर में तैनात एडीसीपी साउथ आईपीएस डॉ. अनिल कुमार ने कोरोना काल के दौरान पुलिस अस्पताल शुरू किया था। कोरोना की दूसरी लहर में यहां सैकड़ों मरीजों की जान बचाई गई थी। पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने आईपीएस की मेहनत को सराहा और पुलिस अस्पतला को कोरोना की तीसरी लहर के लिए तैयार कराया और अब यह आधुनिक संसाधनों से लेस 16 बेड का बड़ा हॉस्पिटल का रूप ले चुका है। एक स्थाई डॉक्टर और 8 लोगों का नर्सिंट स्टाफ स्थाई रूप से काम कर रहा है। यहां पर रोजाना ओपीडी में डॉक्टर बैठ रहे हैं।

अस्पताल आधुनिक सुविधाओं से लैस है।
अस्पताल आधुनिक सुविधाओं से लैस है।

यहां पर कोरोना वैक्शीनेशन से लेकर बच्चों के टीकाकरण और तमाम सुविधाएं उपलब्ध हैं। इससे कानपुर में तैनात सात हजार पुलिस कर्मियों और उनके परिवार को सबसे अधिक राहत मिली है।

कोरोना की तीसरी लहर के लिए हैयार पुलिस हॉस्पिटल
कोरोना की तीसरी लहर के लिए हैयार पुलिस हॉस्पिटल

खास बात यह है कि सिर्फ पुलिस ही नहीं पब्लिक के लिए भी यहां पर इलाज उपलब्ध है। जबकि इससे पहले यहां के पुलिस अस्पताल में पुलिस कर्मियों के मेडिकल बिल भुगतान करने तक ही सीमित था। लेकिन अब इसे नई बिल्डिंग में शिफ्ट करके हॉस्पिटल की तरह संचालित किया जा रहा है।

फिजियोथैरेपिस्ट स्टेनली मरीज को एक्सरसाइज कराते हुए
फिजियोथैरेपिस्ट स्टेनली मरीज को एक्सरसाइज कराते हुए

दूसरी लहर में इतने लोगों को मिली थी राहत-
- 50 लोगों को हॉस्पिटल में भर्ती करके इलाज किया गया।
- 1150 मरीजों को ओपीडी में देखकर इलाज किया गया।
- 1800 लोगों को कोविड जांच के लिए सैंपलिंग ली गई।
- 1000 से ज्यादा लोगों को अब तक हो चुका है वैक्शीनेशन।

हॉस्पिटल की विशेषताएं
आइसोलेशन बेड
ऑक्सीजन बेड
ऑक्सीजन कंसंट्रेटर से लैस
टीकाकरण
24 घंटे पैरामेडिकल स्टाफ और नर्स की उपलब्धता
विशेषज्ञ डॉक्टर
ओपीडी
होम आइसोलेटेड मरीजों के लिए टेलीमेडिसिन
फिजियोथैरिपी और चेस्ट फिजियोथैरिपी

हॉस्पिटल में मरीज को देखती डॉक्टर
हॉस्पिटल में मरीज को देखती डॉक्टर

जल्द पॉलीक्लीनिक की तर्ज पर चलेगा हॉस्पिटल
आईपीएस डॉक्टर अनिल कुमार ने बताया कि जल्द ही यहां पर मेडिसिन, सर्जरी, ऑर्थोपेडिक्स, पीडियाट्रिक्स, गायनेकोलॉजिस्ट, ऑप्थल्मोलॉजिस्ट, ईएनटी और डर्मेटोलॉजिस्ट आदि उपलब्ध रहेंगे। इसके साथ ही टेस्ट हेतु लैब, बच्चों का टीकाकरण, नियमित स्वास्थ्य जांच और फिजियोथैरिपी उपलब्ध होगी।

खबरें और भी हैं...