• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • IIT Kanpur Has Sought Ideas From The Whole Country, Work Will Be Done On Cyber Security And Grid Failure, IIT Will Incubate The Best Idea. Kanpur

पावरग्रिड को हाईटेक करने के आइडिया पर आईआईटी देगा ईनाम:आईआईटी कानपुर ने पूरे देश से मांगा है आइडिया, साइबर सिक्योरिटी और ग्रिड फेल पर होगा काम, बेस्ट आइडिया को आईआईटी करेगा इंक्यूबेटेड

कानपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आईआईटी कानपुर - Dainik Bhaskar
आईआईटी कानपुर

पावर ग्रिड को और मजबूत व हाईटेक करने साथ ही साइबर अटैक से बचाने के लिए आईआईटी कानपुर आगे आया है। आईआईटी कानपुर ने पूरे देश से पावर ग्रिड को हाईटेक करने का आईडिया मांगा है। देशभर के आइडिया को आईआईटी के वैज्ञानिक समझेंगे और उसे इंक्यूबेटेड करेंगे। साथ ही आइडिया पसंद आने पर 50 हजार रुपये की प्रति माह फेलोशिप भी प्रदान करेंगे। यह फेलोशिप एक वर्ष तक दी जाएगी। आईआईटी ने बेहतर आइडिया प्राप्त करने के लिए पूरे देश में ओपन चैलेंज किया है।

सुझाव भारत के पावर ग्रिड के लिए है...
ग्रिड को स्मार्ट बनाने की तकनीक विकसित करने के लिए आईआईटी कानपुर ने एक प्रतियोगिता इनोवेशन फेलोशिप इन स्मार्ट ग्रिड टेक्नोलॉजी विकसित की है। इस प्रतियोगिता में चार वर्षीय स्नातक करने वाले छात्र अपने बेहतर व इनोवेटिव आइडिया के साथ प्रतिभाग कर सकते हैं। प्रतियोगिता में आइडिया का चयन संस्थान में स्थित स्टार्टअप इंक्यूबेशन एंड इनोवेशन सेंटर (सिक) करेगा। संस्थान उस आइडिया देने वाले अभ्यर्थी को सिक में इंक्यूबेट करेगा और उसे स्टार्टअप के रूप में विकसित करेगा। जिससे देश को लाभ मिल सके।

उद्देश्य क्या है इसका...
आईआईटी कानपुर का मुख्य उद्देश्य ट्रांसमिशन व वितरण नेटवर्क को मजबूत करना है। इसे साइबर सिक्योरिटी से भी जोड़ने की तैयारी है। साथ ही, नवीकरणीय ऊर्जा, भंडारण, ईवी चार्जिंग स्टेशन, माइक्रोग्रिड, इंटेलीजेंट सेंसर और नियंत्रक, को अत्याधुनिक करना है। इस पर एक साल से आईआईटी काम कर रहा है। संस्थान के वैज्ञानिक प्रो. अंकुश शर्मा सिर्फ शोध नहीं बल्कि पावर से जुड़े संस्थानों के प्रतिनिधियों को प्रशिक्षण भी दे रहे हैं। ग्रिड टेक्नोलॉजी को स्मार्ट बनाने के लिए आईआईटी और पावर फाइनेंस कॉर्पोरेशन (पीएफसी) के बीच समझौता भी हुआ है।

खबरें और भी हैं...