कानपुर टेस्ट से पहले पिच में बदलाव:खराब प्रैक्टिस पिचों से खिलाड़ियों के घायल होने का डर; शिकायत के बाद सुधारीं

कानपुर11 दिन पहलेलेखक: शलभ आनंद बाजपेयी

25 नवंबर को होने वाले टेस्ट मैच के लिए इंडिया और न्यूजीलैंड की टीमें कानपुर पहुंच चुकी हैं, लेकिन टेस्ट शुरू होने से पहले ही ग्रीन पार्क स्टेडियम अपनी पिचों को लेकर विवादों में आ गया है। सोमवार को टीम इंडिया के कोच राहुल द्रविड़ और कैप्टन अजिंक्य रहाणे ने पिच को लेकर नाराजगी जाहिर की थी। अब न्यूजीलैंड टीम के कोच गैरी स्टीड ने भी नाराजगी जाहिर की है।

अभ्यास के लिए बनाई गईं पिचें ऊबड़-खाबड़ थीं और इनसे खिलाड़ियों के घायल होने का खतरा था। दोनों टीमों की नाराजगी के बाद अब अभ्यास पिचों में सुधार किया गया है। न्यूजीलैंड के प्रैक्टिस सेशन से पहले मंगलवार को पिच क्यूरेटर प्रैक्टिस पिचों को सुधारते दिखे। जानिए, पिच को लेकर ग्रीनपार्क क्यों सवालों में

सबसे पहले राहुल-अजिंक्य नाराज हुए
टीम इंडिया के कप्तान अजिंक्य रहाणे और कोच राहुल द्रविड़ सोमवार को कानपुर में बायो-बबल का घेरा तोड़कर ग्रीन पार्क स्टेडियम पहुंचे थे। दोनों शाम को करीब 4.30 बजे वहां पहुंचे। उन्होंने मैदान और पिच का बारीकी से निरीक्षण किया।

क्यूरेटर एल. प्रशांत राव से मुलाकात कर विकेट के नेचर के बारे में भी बात की। वह नए ड्रेसिंग रूम में करीब 15 मिनट तक रुके। कोच ने अभ्यास पिचों का निरीक्षण कर उसमें सुधार करने को भी कहा। वह अभ्यास पिचों के स्तर से थोड़ा नाखुश थे।

राहुल द्रविड़ और अजिंक्य रहाणे भी सोमवार को पिच देखने पहुंचे थे। उन्होंने प्रैक्टिस पिचों को लेकर नाराजगी जाहिर की थी।
राहुल द्रविड़ और अजिंक्य रहाणे भी सोमवार को पिच देखने पहुंचे थे। उन्होंने प्रैक्टिस पिचों को लेकर नाराजगी जाहिर की थी।

फिर न्यूजीलैंड के कोच नाखुश दिखे
मंगलवार को सुबह 9:40 बजे कीवी टीम स्टेडियम पहुंची। रनिंग और स्ट्रेचिंग करने के बाद नेट्स पर गई।

कीवी कोच गैरी स्टीड प्रैक्टिस पिचों का निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान वह पिचों से नाखुश नजर आए। उन्होंने विकेट पर गेंद उछाल कर देखा और स्टंप की पोजीशन को देखकर नाराजगी जाहिर की।

इसके बाद क्यूरेटर पिच सुधारते दिखे
ग्रीन पार्क के क्यूरेटर शिवकुमार और BCCI के न्यूट्रल पिच क्यूरेटर एल प्रशांत राव से पिच को लेकर शिकायत की गई। मंगलवार को ही दोनों पिच क्यूरेटर प्रैक्टिस पिचों में सुधार करते दिखे। न्यूजीलैंड की टीम ने पिच सुधरने के बाद जमकर प्रैक्टिस की।

मेन पिच पर फोकस था, प्रैक्टिस पिचों पर नहीं
शिवकुमार ने ही सारी पिचें तैयार की थीं। प्रशांत राव 14 नवंबर को कानपुर आ चुके थे, लेकिन उन्होंने अभ्यास पिचों की तरफ ध्यान नहीं दिया। दोनों क्यूरेटर सिर्फ मुख्य विकेट पर ही फोकस कर उसे लेवल करने में लगे रहे। BCCI और UPCA दोनों क्यूरेटर का ध्यान अभ्यास पिचों पर नहीं था। प्रैक्टिस विकेटों पर खामियां देखी जा रही थीं। ग्रीन पार्क हॉस्टल और कानपुर टीम के खिलाड़ियों ने भी पिचों को लेकर शिकायत की थी, पर इसे अनसुना कर दिया गया था।

खबरें और भी हैं...