• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Indian Exporters Will Dominate The World On The Basis Of Quality And Technology, Leather Traders Of The Industrial Capital Will Export Twice Kanpur

कानपुर के लेदर कारोबारियों से PM मोदी ने की बात:क्वालिटी और टेक्नोलाजी के दम पर 400 बिलियन डालर निर्यात का लक्ष्य पूरा करने की बात कही, दुनिया में नए बाजार तलाशने पर दिया जोर

कानपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रधानमंत्री ने सभी राज्यों से अमृत संध्या महोत्सव की पूर्व संध्या पर 75 देशों के निर्यात में 25 उत्पादों की पहचान बनाने पर जोर दिया। - Dainik Bhaskar
प्रधानमंत्री ने सभी राज्यों से अमृत संध्या महोत्सव की पूर्व संध्या पर 75 देशों के निर्यात में 25 उत्पादों की पहचान बनाने पर जोर दिया।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने निर्यातकों से ‘ब्रांड इंडिया’ के विदेशों में छा जाने का आह्वान किया। क्वालिटी और टेक्नोलाजी के दम पर 400 बिलियन डालर निर्यात का लक्ष्य पूरा करने की बात कही। पिछले साल 250 बिलियन डालर का निर्यात किया गया था। प्रधानमंत्री ने सभी राज्यों से अमृत संध्या महोत्सव की पूर्व संध्या पर 75 देशों के निर्यात में 25 उत्पादों की पहचान बनाने पर जोर दिया। शुक्रवार को प्रधानमंत्री के साथ हुई वर्चुअल मीटिंग में कानपुर के 60 से अधिक निर्यातक कारोबारी जुड़े। जिनमें से 5 उद्यमियों को एमएसएमई मंत्रालय ने लखनऊ में बुलाया था।

6 अरब डॉलर लेदर निर्यात का रखा गया लक्ष्य
प्रधानमंत्री के साथ वर्चुअल मीटिंग से लेदर कारोबारी खासा उत्साहित है। सीएलई के वाइस चेयरमैन आर के जालान ने कहा कि ब्रांड इंडिया के प्रमोशन पर प्रधानमंत्री ने खास फोकस किया। दुनिया में नए बाजार तलाशने और मांग व जरूरत के मुताबिक उत्पाद बनाने पर जोर दिया। सीएलई के पूर्व चेयरमैन मुख्तारुल अमीन ने कहा कि लेदर इंडस्ट्री के लिए क्वालिटी और टेक्नोलाजी दोनों ही बहुत अहम हैं। इस साल 6 अरब डालर के लेदर निर्यात का लक्ष्य रखा गया है। जो कि पिछले साल से लगभग दो गुना ज्यादा है।

पिछले वर्ष 3.5 अरब डालर का लेदर निर्यात

पिछले वर्ष कोरोना के कारण 3.5 अरब डालर का ही लेदर निर्यात हो पाया था। सीएलई के रीजनल चेयरमैन जावेद इकबाल ने कहा कि वर्चुअल मीटिंग ने निर्यातकों का उत्साह बढ़ाया है। लेदर इंडस्ट्रीज वेलफेयर एसोसिएशन के महासचिव असद इराकी ने बताया कि कोरोना में चाइना का इंफ्रास्ट्रक्चर घटा है। इसका फायदा भारत उठा सकता है।

MSME मंत्रालय ने उद्यमियों को बुलाया राजधानी
औद्योगिक राजधानी कानपुर के पांच उद्यमियों को लखनऊ भी बुलाया गया था। एमएसएमई मंत्रालय के बुलाबे पर टेनरी कारोबारी अशरफ रिजवान, मनोज गुप्ता, इशरत सबा, दिनेश कुमार, महेश शुक्ला, किरण कुमार, महेन्द्र कुमार और भरत कुमार लखनऊ गए थे। एसपीवी के अशरफ रिजवान ने बताया कि वर्ष 2008 में वैश्विक मंदी के समय तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने चमड़ा कारोबारियों के प्रतिनिधिमंडल को दिल्ली बुलाकर बात की थी।

उद्यमियों ने रखे अपने सुझाव
देश दुनियां के कई देशों के राजदूतों, विभिन्न मंत्रालयों के मंत्रियों के साथ नरेन्द्र मोदी निर्यातकों से रूबरू थे। सभी उद्यमियों ने निर्यात बढ़ाने के दिये सुझाव दिये। जिसके अंतर्गत मजबूत विनिर्माण आधार की आवश्यकता है। गुणवत्ता और प्रतिस्पर्धा पर ध्यान केंद्रित करना होगा। रसद और परिवहन से जुड़े मुद्दों का निवारण होना चाहिए। राज्य सरकारे विदेश व्यापार से संबंधित संगठनों के माध्यम से निर्यातकों को सरकारी सहायता मिलनी चाहिए। मांग पैदा करने के लिए विदेशों में भारतीय की सक्रिय भूमिका की आवश्यकता है।

60 से ज्यादा कारोबारी वर्चुअल मीटिंग में शामिल ​​​​​​
बंथर उन्नाव के सीएलई सभागार में मोदी के साथ वर्चुअल मीटिंग में सीएलई के उपाध्यक्ष आरके जालान, पूर्व अध्यक्ष मुख्तारुल अमीन, क्षेत्रीय अध्यक्ष जावेद इकबाल, प्रशासन समिति (सीओए) सदस्य असद के इराकी, ओपी पांडे, राकेश सूरी, एहतिशाम अहमद, ताहिर हुसैन और क्षेत्रीय निदेशक सीएलई पल्लवी दुबे सहित लगभग 60 से ज्यादा कारोबारी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...