इरफान केस में हाईकोर्ट से चौथी जमानत:फर्जी आधार कार्ड मामले में इरफान के साले को मिली बेल, रिजवान की जमानत याचिका खरिज

कानपुर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इरफान के साले अख्तर मंसूरी को हाईकोर्ट से मिली बेल। - Dainik Bhaskar
इरफान के साले अख्तर मंसूरी को हाईकोर्ट से मिली बेल।

इरफान सोलंकी के फर्जी आधार कार्ड केस में चौथे आरोपी को हाईकोर्ट से जमानत मिल गई है। इरफान के साले अख्तर मंसूरी समेत आठ आरोपियों को पुलिस ने अरेस्ट करके जेल भेजा था। एक के बाद एक करके चौथे आरोपी अख्तर मंसूरी को हाईकोर्ट से जमानत मिली है। जबकि महिला का घर फूंकने के मामले में सपा विधायक के भाई रिजवान की जमान याचिका खारिज कर दी गई।

इरफान के साले अख्तर मंसूरी को भी पुलिस ने भेजा था जेल

इरफान सोलंकी के अधिवक्ता गौरव दीक्षित ने बताया कि इरफान सोलंकी समेत आठ लोगों के खिलाफ ग्वालटोली में फर्जी आधार कार्ड बनाने और आरोपी को फरार कराने की धारा में एफआईआर दर्ज करने के बाद अरेस्ट करके जेल भेजा था। इसमें इरफान के साले अख्तर मंसूरी को भी आरोपी बनाया था। हाईकोर्ट में बुधवार को जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने जमानत दे दी।

इससे पहले फर्जी आधार कार्ड केस में सपा नेत्री नूरी शौकत, नूरी के पिता शौकत पहलावन और उनके ड्राइवर अम्मार इलाही उर्फ अली को जमानत मिल चुकी है। जल्द ही अन्य आरोपियों को भी कोर्ट से राहत मिलने की उम्मीद जताई जा रही है।

सपा विधायक इरफान सोलंकी और उनके भाई रिजवान।
सपा विधायक इरफान सोलंकी और उनके भाई रिजवान।

रिजवान की बेल खारिज
वहीं दूसरी तरफ जाजमऊ के महिला का घर फूंकने के मामले में सपा विधायक इरफान सोलंकी के भाई रिजवान की जमानत याचिका पर हाईकोर्ट में सुनवाई थी। सुनवाई के बाद हाईकोर्ट ने रिजवान की जमानत याचिका खारिज कर दी। अब इरफान सोलंकी के साथ ही उनके भाई रिजवान की भी जमानत के लिए याचिका सुप्रीमकोर्ट में दाखिल करनी पड़ेगी। विधायक और उनके भाई को सुप्रीमकोर्ट से ही राहत मिल सकती है। क्यों कि सेशन कोर्ट और हाईकोर्ट दोनों जगह से जमानत याचिका खारिज हो चुकी है।