• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Kanpur For 25 Hours 50 Minutes, Will Participate In 2 Programs, Will Meet 30 People Including RSS Chiefs, PAC Security, Ram Nath Kovind, President Of India, President House, UP Governor, Yogi Adityanath, HBTU, Air Purifier, Kanpur Pollution, Circuit House, Meharban Singh Ka Purwa, Kanpur

कानपुर में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद:बोले- 1984 के दंगों में चौधरी हरमोहन ने सिखों की जान बचाई, मैनावती-जयदेव का शौर्य भी जानें लोग

कानपुर12 दिन पहले
राष्ट्रपति की अगवानी करते राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और सीएम योगी।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 2 दिन के कानपुर दौरे पर पहुंच गए हैं। हरमोहन सिंह यादव के जन्म शताब्दी समारोह को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि चौधरी हरमोहन ने अपनी जान की परवाह न करते हुए 1984 के दंगों में सिखों की जान बचाई थी। 1991 में उन्हें शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया था। आजादी का अमृत महोत्सव भी इसलिए मनाया जा रहा कि स्वतंत्रता की लड़ाई के गुमनाम सेनानियों का शौर्य याद किया जा सके।

अनेक सेनानियों के नाम इतिहास के पन्नों में गुम हो गए हैं। लोग नाना राव पेशवा, तात्या टोपे, रानी लक्ष्मीबाई के नाम से वाकिफ हैं लेकिन अजिजनबाई और मैनावती का योगदान लोगों को नहीं पता। चंद्रशेखर आजाद के जुड़ाव को सब जानते हैं लेकिन कानपुर के जयदेव कपूर और शिव वर्मा के बारे में कम लोग जानते हैं।

आपको बता दें कि अजिजनबाई, मैनावती, शिव वर्मा और जयदेव कपूर कानपुर से ही रहे हैं। शिव वर्मा क्रांतिकारियों के मार्गदर्शक थे। मैनावती को अंग्रेजों ने जिंदा जला दिया था।

चौधरी साहब का पूर्वा अब टाउनशिप बन गया है

चौधरी हरमोहन को याद करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि पहले चौधरी का पूर्वा था। यानी वहां सीमित संख्या में लोग थे लेकिन अब वो पूर्वा टाउनशिप बन गया है। इसके लिए मैं हरमोहन सिंह के परिवार को बधाई देता हूं। हरमोहन जी के जन्मशताब्दी समारोह के बारे में मुझे सुखराम यादव ने बताया। उन्होंने ही मुझे आमंत्रित किया। मैं हरमोहन सिंह जी की सादगी और उनके समाज सुधार के कामों से परिचित रहा हूं। राज्यसभा में भी मैं उनके साथ रहा हूं। विधानसभा से लेकर राज्यसभा तक चौधरी साहब के विचारों को गंभीरता से सुना जाता था। अपनी जान जोखिम में डालकर भी उन्होंने लोगों की रक्षा की।

चौधरी हरमोहन का जीवन युवाओं के लिए मिसाल

इससे पहले राज्यपाल आंनदी बेन पटेल ने चौधरी हरमोहन सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि चौधरी साहब में दूसरों के लिए कुछ करने का जज्बा था। ग्राम सभा से लेकर राज्यसभा तक का उनका सफर इसी बात का परिचायक है। वे शिक्षा को बहुत अहम मानते थे, इसलिए उन्होंने अनेक शैक्षणिक संस्थानों की स्थापना की। चौधरी जी ने पार्षद बनने के बाद लगातार 42 साल तक जनता की सेवा की। उनका जीवन युवा पीढ़ी के लिए अनुकरणीय है। विकास की गति तभी तेज होगी, जब हम मिलजुलकर काम करेंगे।

सीएम योगी आदित्यनाथ राष्ट्रपति की अगवानी के बाद वापस लौट गए थे। वे जन्मशताब्दी समारोह में शामिल नहीं हुए।

राष्ट्रपति कोविंद की अगवानी करते राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और सीएम योगी।
राष्ट्रपति कोविंद की अगवानी करते राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और सीएम योगी।
यहां पहुंचने के बाद सबसे पहले राष्ट्रपति ने सांसद सुखराम सिंह यादव के परिवार के साथ मुलाकात की।
यहां पहुंचने के बाद सबसे पहले राष्ट्रपति ने सांसद सुखराम सिंह यादव के परिवार के साथ मुलाकात की।

हेलिकॉप्टर से करेंगे मूवमेंट
टेस्ट मैच और शहर में जाम के चलते राष्ट्रपति का पूरा मूवमेंट हेलिकॉप्टर के जरिए ही होगा। उनके लिए मेहरबान सिंह का पुरवा में 5 और हरकोर्ट बटलर टेक्निकल यूनिवर्सिटी (HBTU) में 3 हेलिपैड तैयार किए गए हैं। मंगलवार को हेलिपैड और कार्यक्रम स्थल को लेकर सभी तैयारियों को पूरा किया जाता रहा। धूल के गुबार न हो, इसके लिए पक्के हेलिपैड तैयार किए गए हैं।

धूल के गुबार न हो, इसके लिए पक्के हेलिपैड तैयार किए गए हैं
धूल के गुबार न हो, इसके लिए पक्के हेलिपैड तैयार किए गए हैं

पुराने सहयोगियों से करेंगे मुलाकात

राष्ट्रपति सर्किट हाउस में शाम 5 बजे से लोगों से मुलाकात करेंगे। आरएसएस के क्षेत्र संघचालक वीरेंद्र जीत सिंह, प्रांत संघचालक ज्ञानेंद्र सचान, विभाग संघ चालक डॉ. श्याम बाबू गुप्ता व प्रांत सहकार्यवाह भवानी भीख सबसे पहले मुलाकात करेंगे। डॉ. पीएन वाजपेयी और जया मिश्रा भी उनसे मुलाकात करेंगी। पूर्व सांसद देवी बख्स सिंह, भाजपा नेता आनंद राजपाल, आनंद कुमार, लक्ष्मीकांत वाजपेयी, इंद्र गुज्जर, अनुराग, विनोद अग्रवाल, डॉ. सरस्वती अग्रवाल भी मुलाकात करेंगी। पुराने सहयोगी डॉ. प्रताप नारायण दीक्षित भी मुलाकात करने वालों की लिस्ट में शामिल हैं।

राष्ट्रपति की सुरक्षा में तैनात फोर्स
राष्ट्रपति की सुरक्षा के लिए पुलिस कमिश्नरेट ने पूरा खाका खींच लिया है। चकेरी एयरपोर्ट से कार्यक्रम स्थलों पर चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात रहेगी। राष्ट्रपति की सुरक्षा के लिए 10 IPS, 12 ADCP, 25 DSP, 70 इंस्पेक्टर, 200 एसआई, 12 सिपाही और 5 कंपनी पीएसी तैनात की गई है।

खबरें और भी हैं...