• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Market Of Discussions Heated Up Due To Satish Mahana Not Being Made A Minister, Place Not Found For The First Time Since 1991, Satish Mahana, UP Cabinet, UP Government, Minister Form Kanpur, Kalyan Singh, Salil Vishnoi, Pratibha Shukla, Rakesh Sachan, Minister Ajeet Pal, MLA Mahesh Trivedi, Surendra Maithani, Lucknow, Kanpur

मंत्रिमंडल में पहली बार कानपुर से एक भी मंत्री नहीं:सतीश महाना के भी मंत्री न बनाने से चर्चाओं का बाजार गर्म; 1991 से पहली बार नहीं मिला नेतृत्व

कानपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
8 बार के विधायक सतीश महाना को मंत्रिमंडल से बाहर रखा गया है। - Dainik Bhaskar
8 बार के विधायक सतीश महाना को मंत्रिमंडल से बाहर रखा गया है।

यूपी मंत्रिमंडल में इस बार कानपुर से एक भी विधायक को शामिल नहीं किया गया है। हालांकि प्रदेश में दूसरे सबसे सीनियर विधायक सतीश महाना का मंत्री बनना लगभग तय माना जा रहा था। बीती योगी सरकार में कानपुर से मंत्रिमंडल में 4 विधायकों को मंत्री बनाया गया था। एक मंत्री न बनाए जाने से राजनैतिक गलियारों में चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। वहीं विधायकों में भी काफी निराशा है। हालांकि चर्चा है कि उन्हें विधानसभा अध्यक्ष बनाया जा सकता है।

पहली बार एक भी मंत्री नहीं
कल्याण सिंह दो बार यूपी के मुख्यमंत्री रहे। 1991 और 1997 में बनी दोनों ही सरकारों में कानपुर से प्रेमलता कटियार और बाल चंद्र मिश्रा मंत्री रहे। 24 जून, 1991 को यूपी में पहली बार भाजपा की सरकार बनी थी। दूसरी बार 1997 में तेरहवीं विधानसभा में भाजपा राज्य की सत्ता में आई, तो कल्याण सिंह फिर मुख्यमंत्री बने। 15 साल बाद 2017 में भाजपा सरकार बनी और योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बने। 2017 में बनी सरकार में कानपुर से 4 मंत्री बनाए गए थे।

हर किसी के चेहरे पर निराशा
यूपी में भाजपा सरकार बनने को लेकर भाजपाइयों में जहां खुशी की लहर है। वहीं कानपुर से एक भी मंत्री न बनने से निराशा भी साफ देखी जा रही है। बीती सरकार में सतीश महाना और दिवंगत कमलरानी वरुण को कैबिनेट में शामिल किया गया था। वहीं मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने को लेकर सलिल विश्नोई, महेश त्रिवेदी और सुरेंद्र मैथानी का नाम भी खूब चला, लेकिन वे भी जगह नहीं बना सके।

महापौर के नाम की उड़ी अफवाह
यूपी मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने को लेकर महापौर प्रमिला पांडेय का नाम भी चलने लगा। दरअसल, महापौर प्रमिला पांडेय सुबह सीएम आवास शिष्टाचार भेंट करने चली गई थीं। ऐसे में ये माना जाने लगा कि उन्हें भी मंत्रिमंडल में शामिल करने के लिए बुलाया गया है। बता दें कि कानपुर से इस बार भाजपा के 7 विधायक जीते हैं।

कानपुर देहात से बने 3 मंत्री
इस बार कानपुर देहात से 3 विधायकों को मंत्री बनाया गया है। सिकंदरा से विधायक अजीत पाल को दोबारा मंत्री बनाया गया है। जबकि प्रतिभा शुक्ला और राकेश सचान को भी इस बार मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है। इकाना स्टेडियम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में सभी को पद और गोपनियता की शपथ दिलाई गई।

खबरें और भी हैं...