झील का पानी सूखा, तड़पकर मरी मछलियां:कानपुर के सबसे बड़े कारगिल पार्क में मोतीझील सूखने की कगार पर, जलकल 7 दिन बाद भी पानी सप्लाई नहीं कर सका

कानपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
झील में मरी मछली दिखाता युवक। - Dainik Bhaskar
झील में मरी मछली दिखाता युवक।

कानपुर। नगर निगम द्वारा संचालित कारगिल पार्क में मोतीझील का पानी सूखने से दर्जनों मछलियां मर गई। मीडिया में खबरे आने के बाद आनन-फानन नगर निगम कर्मियों ने मछलियों को झील के दूसरे पानी वाले हिस्से में शिफ्ट कराया। लेकिन तब तक दर्जनों मछलियां मर चुकी थीं। बता दें कि ये कोई पहला मामला नहीं है, इससे पहले भी कई बार पानी न होने से मछलियों के मरने के मामले सामने आ चुके हैं।
कैनाल बंद होने से संकट
मोतीझील में पनकी स्थित वाटर कैनाल से पानी आता है। लेकिन बीते 10 दिनों से कैनाल में ही पानी नहीं आ रहा है। इससे मोतीझील में ही पानी सूखने की कगार पर पहुंच गया है। पानी बेहद कम होने से हजारों मछलियों को झील के दूसरे हिस्से में छोड़ा गया। लेकिन दर्जनों मछलियां पानी की कमी से मर गई।
जलकल नहीं दे पाया पानी
नगर निगम उद्यान अधीक्षक डा. वीके सिंह ने बताया कि कैनाल में पानी न आने से कुछ मछलियां मरी हैं। जलकल को 7 दिन पहले झील में पानी छोड़ने के लिए लेटर लिखा था। लेकिन कैनाल बंद होने से पानी जलकल सप्लाई नहीं कर सका। सभी मछलियों को झील के दूसरे हिस्से में शिफ्ट करा दिया गया है। शिफ्टिंग में कुछ मछलियां जरूर मरी हैं।

खबरें और भी हैं...