आईआईटी कानपुर ने पेटेंट के दावे में तोड़ा अपना रिकार्ड:107 पेटेंट दाखिल कर बनाया नया कीर्तिमान, अब तक 810 पेटेंट दाखिल

कानपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पेटेंट दाखिल करने में आईआईटी कानपुर नए कीर्तिमान स्थापित करता जा रहा है। कोरोना काल में भी संस्था ने 107 पेटेंट दाखिल कर एक नया रिकार्ड बनाया है। पूर्व में आईआईटी के खाते में 2019 में सबसे अधिक 76 पेटेंट दायर किए जाने का रिकॉर्ड रहा हैं। इन पेटेंट में नए आविष्कार से लेकर मेडटेक और नैनो तकनीक तक शामिल है। इसमें पेटेंट के अलावा 15 डिजाइन पंजीकरण, दो कॉपीराइट, 24 ट्रेडमार्क आवेदन के साथ 4 यूएस पेटेंट आवेदन शामिल हैं।

कोरोना में भारतीय उद्योगों को बनाया आत्मनिर्भर

कोरोना की दूसरी लहर में आईआईटी के वैज्ञानिकों ने कई नई रिसर्च सामने रखें। संस्थान द्वारा क़ई कंपनियों को दो प्रकार के ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की तकनीक दी है। इसी तरह देश में ऑक्सीजन की किल्लत को दूर करने के लिए आईटी कानपुर द्वारा तकनीक को देशभर में सांझा किया गया। जिससे देश के कई भागों में ऑक्सीजन प्लांट 90 दिन के अंदर स्थापित किए गए। मिशन भारत ऑक्सीजन योजना के तहत विभिन्न प्लांट लगाकर देश में ऑक्सीजन किल्लत को खत्म करने का प्रयास किया है।

आईआईटी कानपुर द्वारा नई तकनीक हस्तांतरित की जाएगी

संस्थान के निदेशक प्रो. अभय करंदीकर ने बताया कि आईआईटी आने वाले समय में किसी भी तरह की मुसीबत से निपटने के लिए तकनीकी जांच करता रहेगा। मेडिकल लाइन हो या फिर उद्योग आईआईटी आत्मनिर्भर भात बनाने की दिशा में लगातार कदम आगे बढ़ा रहा है। इसी क्रम में एक वर्ष में 107 पेटेंट दायर किये गये है। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 810 पेटेंट कराये जा चुके है। कुल पेटेंट में 15.2 फीसदी की प्रौद्योगिकी हस्तांतरण भी की जा चुकी है।