कानपुर में 31 जनवरी तक शुरू होगा लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट:हैलट में नहीं होगी अब ऑक्सीजन की दिक्कत, यूएसए से तकनीकी से शुरू होगा नया प्लांट

कानपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हैलट में लगे ऑक्सीजन प्लांट - Dainik Bhaskar
हैलट में लगे ऑक्सीजन प्लांट

जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के हैलट अस्पताल में कोविड की तीसरी लहर में ओमिक्रॉन वैरिएंट को ध्यान में रखते हुए हैलट प्रशासन ने बीस हजार लीटर लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की इकाई स्थापित करने के शासन से मांग की थी। इस दिशा में कार्यवाही भी शुरू हो गई है। हैलट में चिकित्सालय की डेडिकेटेड कोविड बिल्डिंग में चिकित्सा सुविधाओं की एक बार फिर से समीक्षा करके भविष्य के लिए तैयारियां की जा रही हैं।

विशेष तैयारी के रूप में चिकित्सालय प्रशासन ने आउटसोर्स स्टाफ के लिए भी शासन से मांग की है। इसके अलावा हैलट परिसर में 15 जनवरी को यूएसए से लिक्विड ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट आ जाएगा और 31 जनवरी से पहले इसे इंस्टॉल भी कर लिया जाएगा। यह जानकारी जीएसवीएम के प्रिंसिपल डॉ संजय काला ने दी।

एक प्लांट की और जरूरत है अभी हैलट में...
डॉ संजय काला ने बताया, दस हजार लीटर लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट 31 जनवरी तक हमारे परिसर में लग जाएगा। इसके अलावा हम लोगों को दस हजार की एक हजार लीटर लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट की और जरूरत होगी। हैलट एक बड़ा सेंटर है और यहां कानपुर शहर के अलावा आस-पास के 14 से 15 जिलों के मरीज आते हैं। इस अतिरिक्त इकाई को इंस्टॉल करने के लिए शासन से अप्रूवल आ गया है। यूएस से जो प्लांट आ रहा है, उसकी लागत करीब एक करोड़ रुपए से ज्यादा है।

इस समय हैलट में है तीन पीएसी प्लांट...

आपको बता दें कि इस समय हैलट अस्पताल में एक हजार लीटर प्रति मिनट क्षमता के तीन (पीएसए) ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट लगाए जा चुके हैं। 10 हजार लीटर के दो (एलएमओ) लिक्विड मेडिकल आक्सीजन के टैंक स्थापित किए जा चुके हैं। भविष्य की आवश्यकताओं को देखते हुए चिकित्सालय प्रशासन द्वारा 10 हजार लीटर लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की अतिरिक्त दो इकाई स्थापित करने की शासन से मांग स्वीकृत हो चुकी है। वर्तमान में हैलट अस्पताल के सभी ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट्स चल रहे हैं।

रोजाना आ रहे है 25 से 35 मरीज टेस्टिंग कराने...

हैलट की डेडिकेट कोविड बिल्डिंग में औसतन रोजाना 25 से 30 व्यक्ति कोविड टेस्ट कराने आ रहे हैं, जिनकी टेस्टिंग कर उसी दिन परिणाम भी दे दिए जाते हैं। इस रिपोर्ट को व्यक्ति ऑनलाइन/पोर्टल से भी डाउनलोड कर सकते हैं। इस बिल्डिंग में 200 कोविड बेड्स लगाए गए हैं। इसमें 24 घंटे क्लाक वाइज डॉक्टरी सुविधा उपलब्ध है।