घरेलू-कलह और अवसाद में तीन ने दी जान:नर्स, केस्को कर्मी और ड्राइवर ने पारिवारिक तनाव के बाद दी जान, अब जांच में जुटी पुलिस

कानपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक चित्र। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक चित्र।

कानपुर के अलग-अलग इलाकों में घरेलू कलह से तंग होकर रविवार को तीन लोगों ने जान दे दी। नर्स और केस्को संविदा कर्मी ने फांसी लगाकर जान दी है। जबकि ड्राइवर ने पत्नी से झगड़े के बाद तेजाब पी लिया था। इलाज के दौरान ड्राइवर की मौत हो गई। अब तीनों मामले में पुलिस जांच कर रही है।

केस-1: नर्स ने फांसी लगाकर दी जान

कल्याणपुर के खुर्द के जानकीपुरम निवासी सब्जी विक्रेता लालमन मौर्या की बेटी सोनी उर्फ रेखा (26) ने शनिवार देर रात फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बीफार्मा करने के बाद वह कल्याणपुर के एक हास्पिटल में काम करती थी। शनिवार देर रात परिजनों के बार-बार कॉल करने के बाद भी फोन रिसीव नहीं हुआ। संदेह होने पर भाई विनोद घर पहुंचा तो मेनगेट अंदर से बंद मिला। काफी खटखटाने के बावजूद वह नहीं खुला तो विनोद गेट फांदकर अंदर पहुंचा जहां सोनी का शव फंदे पर लटकता मिला। भाई ने बताया कि उसका हास्पिटल के एक युवक से प्रेम संबंध था। इसी बात को लेकर परिवार में तनाव चल रहा था। इसी के चलते उसने यह कदम उठाया है। अब कल्याणपुर थाने की पुलिस मामले की जांच कर रही है।

केस-2: केस्को संविदा कर्मी ने फांसी लगाकर दी जान

चुन्नीगंज निवासी प्रमोद कुमार (26 वर्ष) का शनिवार को घर में फंदे से शव लटका मिलने से हड़कंप मच गया। मुंबई निवासी मृतक के बड़े भाई विनोद ने बताया कि प्रमोद केस्को में श्रमिक था। एक महीने से वह अकेले ही रह रहा था। जबकि उसकी पत्नी और दो बच्चे मांसी और यश भी मुंबई में परिवार के पास थे। भाई ने बताया कि शनिवार सुबह ही उन्हें पड़ोसियों से उन्हें घटना की जानकारी मिली और वे रात नौ बजे फ्लाइट से कानपुर पहुंचे। घटना की जानकारी पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर कार्रवाई की है। मृतक के भाई ने बताया की वह 22 अप्रैल से ड्यूटी पर नहीं गया था। जिसके संबंध में उसे केस्को की तरफ से नोटिस भी मिला था। नोटिस देखकर शायद उसे नौकरी जाने का भय हो गया था जिसके चलते अवसाद में आकर उसने ऐसा कदम उठा लिया।

केस-3: पत्नी से झगड़े के बाद तेजाब पीने से मौत

जूही थाना क्षेत्र स्थित परमपुरवा निवासी किशन कुमार के पुत्र सुशील (45 वर्ष) की रविवार सुबह 6 बजे इलाज के दौरान मौत हो गई। बीते 13 मई को सुशील ने घरेलू कलह से तंग आकर तेजाब पी लिया था। जिसके बाद उन्हें हैलट अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती गया गया था। परिजनों ने जानकारी दी कि मृतक पेशे से ड्राइवर था। वह कहीं किसी की प्राइवेट कार चलाते थे। परिवार में पत्नी संगीता समेत दो बच्चे यश और आयुष हैं। 13 मई को पति पत्नी के बीच किसी बात को लेकर हुई बहस के बाद सुनील ने तेजाब पी लिया था।

खबरें और भी हैं...