• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • On The Lines Of Indore, The System Will Start In Kanpur, Compost Will Be Made On The Spot In 8 To 10 Hours, Garbage Will Not Spread In The City, Kanpur Nagar Nigam, SWAHAA, Waste, Indore, Clean City, Hotel In Kanpur, Kanpur

सब्जी मंडी में ही कूड़े से बन जाएगी खाद:इंदौर की तर्ज पर कानपुर में शुरू होगी व्यवस्था, मौके पर कंपोस्ट वैन में 8 से 10 घंटे में बनेगी खाद, मंडियों में नहीं फैलेगा कचरा

कानपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
होटलों और मार्केट से निकलने वाले गीले कूड़े को भौंती स्थित डंप तक पहुंचाने के लिए काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है है। - Dainik Bhaskar
होटलों और मार्केट से निकलने वाले गीले कूड़े को भौंती स्थित डंप तक पहुंचाने के लिए काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है है।

कानपुर में अब सब्जी, फल मंडी, सोसाइटी और होटलों से निकलने वाले वेस्ट को 8 से 10 घंटे में ही खाद बना दिया जाएगा। इंदौर और उज्जैन जैसे साफ शहरों में काम करने वाली संस्था स्वाहा अब कानपुर में भी काम करेगी। सोमवार को कंपनी द्वारा नगर आयुक्त के सामने प्रेजेंटेशन दिया गया। इसमें नगर आयुक्त शिवशरणप्पा जीएन ने कंपोस्टिंग वैन को लेकर कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए।

एक बार में 40 टन कूड़े से बनेगी खाद
होटलों और मार्केट से निकलने वाले गीले कूड़े को भौंती स्थित डंप तक पहुंचाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ती है। स्वाहा कंपनी के आने से ये पूरी कवायद कम हो जाएगी। बड़े होटलों, सब्जी मंडियों से निकलने वाला गीले कूड़े को गाड़ी में डालकर कंपोस्ट किया जाएगा। एक बार में करीब 40 टन कूड़े की खाद बनाई जा सकेगी। बदले में कंपनी होटल से पैसा लेगी।

कंपनी ने नगर आयुक्त के सामने दिया प्रेजेंटेशन।
कंपनी ने नगर आयुक्त के सामने दिया प्रेजेंटेशन।

कंपनी की होगी सारी मशीनरी

नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. अमित सिंह ने बताया कि कंपनी के को-फाउंडर समीर शर्मा के साथ मीटिंग हुई। जिसमें कंपनी ने ऑन स्पॉट कंपोस्टिंग को लेकर प्रेजेंटेशन दिया। कंपनी देश के कई शहरों में काम कर रही है। इसके लिए टेंडर निकाले जाएंगे। अन्य कंपनियों का भी रिव्यू किया जाएगा। इसमें नगर निगम को सिर्फ पैसा वसूली के लिए कंपनी को मदद देनी होगी। शहर में करीब 46 बड़े होटल हैं। जो गीला कूड़ा बल्क में जेनरेट करते हैं।

NGT की गाइडलाइन होगी फॉलो

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) की गाइडलाइन के मुताबिक भी गीला कूड़ा के बल्क जेनरेटर को ऑन स्पॉट ही कंपोस्टिंग करनी होगी। इससे नगर निगम को भी आसानी होगी। मौजूदा समय में करीब 100 मीट्रिक टन गीला कूड़ा जेनरेट होता है। मीटिंग में पर्यावरण अभियंता आरके पाल, प्रोजेक्ट सेल के प्रभारी आरके सिंह भी मौजूद रहे।

शहर मे बड़ी सब्जी मंडी

  • विजय नगर
  • बंबा रोड
  • कल्याणपुर
  • किदवई ओ ब्लॉक
  • रामादेवी सब्जी मंडी
  • गोविंद नगर
खबरें और भी हैं...