• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • On The Third Day Of The Strike In Halat, The Outsourcing Nursing Staff's Hunger Strike Worsened The Condition, Admitted In Emergency Kanpur

मृत मरीजों के नाम रेमडेसिवीर इंजेक्शन जारी करने का मामला:हैलट में हड़ताल के तीसरे दिन आउटसोर्सिंग नर्सिंग स्टाफ की भूख हड़ताल से हालत बिगड़ी, इमरजेंसी में कराया भर्ती

कानपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मेल स्टाफ मधुलोप इमरजेंसी में - Dainik Bhaskar
मेल स्टाफ मधुलोप इमरजेंसी में

रेमडेसिविर इंजेक्शन प्रकरण में हैलट के न्यूरो साइंस सेंटर के कोविड हास्पिटल से हटाई गईं आउटसोर्सिंग कंपनी की स्टाफ नर्स और वार्ड ब्वाय शुक्रवार सुबह से प्रमुख अधीक्षक कार्यालय के बाहर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठे है। भूख हड़ताल के चलते रविवार सुबह मेल स्टाफ मधुलोप की हालत ब्लड प्रेशर और शुगर कम होने की वजह से बिगड़ गई।हड़ताल पर बैठे अन्य साथियों ने उसे इमरजेंसी में भर्ती करवाया, जहां डाक्टरों ने उसकी हालत नाजुक बताई है।

मृत मरीजों के नाम जारी किए गए थे रमडेसिवीर इंजेक्शन...
शुक्रवार से हड़ताल पर बैठे लोगों ने बताया कि,उन्हें बलि का बकरा बनाकर नौकरी से निलंबित कर दिया गया। जबकि न्यूरोसाइंस विभाग में रेमडेसिवीर इंजेक्शन जारी होने में प्रभारी, ड्यूटी डॉक्टर और फार्मासिस्ट मुख्य जिम्मेदार हैं। हमको केवल मरीजों को दवा और इंजेक्शन देने का निर्देश डॉक्टरों से मिलता था। जांच में परमानेंट स्टाफ को बचाकर आउटसोर्सिंग कर्मियों पर गाज गिरा दी गई है। जो सरासर गलत है। जब तक हमको नौकरी वापस नहीं मिलती है, तब तक हम इसी तरह हड़ताल और प्रदर्शन करते रहेंगे।

शनिवार को भी बिगड़ी थी हालत...
भूख हड़ताल पर बैठे लोगों में से दो लोगों निहारिका और कमला देवी की शनिवार को हालत बिगड़ी गई थी, उन दोनों को भी हैलट इमरजेंसी में भर्ती कराया गया था।

खबरें और भी हैं...