कानपुर...एक करोड़ रु. के गबन में प्रिंसिपल गिरफ्तार:2012 में कागजों में बिल्डिंग और छात्र दिखाकर छात्रवृत्ति घोटाला किया था, 17 अफसर भी थे शामिल

कानपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छात्रवृत्ति घोटाले का आरोपी कोकला कला हाथरस निवासी श्यामवीर सिंह गिरफ्तार। - Dainik Bhaskar
छात्रवृत्ति घोटाले का आरोपी कोकला कला हाथरस निवासी श्यामवीर सिंह गिरफ्तार।

कागजों में बिल्डिंग और छात्रों की संख्या अधिक दिखाकर हाथरस के कॉलेज में एक करोड़ से ज्यादा की छात्रवृत्ति हड़पने के आरोपी प्रिंसिपल को सोमवार को कानपुर की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। मामले में छह आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार करके जेल भेजा जा चुका है। 10 आरोपियों की तलाश में छापेमारी की जा रही है।

नौ साल से चल रही मामले की जांच

आर्थिक अपराध शाखा कानपुर के एसपी बाबूराम ने बताया कि आरपीआईटीसी स्कूल बुढ़ाइच जलेसर रोड हाथरस में स्थित है। यहां पर कोकला कला हाथरस निवासी श्यामवीर सिंह प्रिंसिपल पद पर कार्यरत हैं। प्रिंसिपल ने बैंक से लेकर समाज कल्याण अधिकारी और डीआईओएस से साठगांठ करके दूसरे स्कूल की इमारत को दिखाते हुए फर्जी छात्रों की सूची बनाई। उसके आधार पर 2012 में अपने एक कॉलेज से 20.25 लाख रुपए और दूसरे से 73 लाख रुपए की छात्रवृत्ति के घोटाले को अंजाम दिया। इस मामले में 2012 में स्थानीय थाने में एफआईआर दर्ज हुई थी। इसके बाद शासन के आदेश पर 2016 में आर्थिक अपराध शाखा ने जांच शुरू की थी।

घोटाले के छह आरोपियों को ईओडब्ल्यू जेल भेज चुकी है और अब सातवें आरोपी प्रिंसिपल श्यामवीर की गिरफ्तारी से एक बार फिर मामला चर्चा में है। नौ साल से मामले की जांच चल रही, लेकिन अभी तक सभी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। ईओडब्ल्यू के अफसरों ने जल्द ही अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी करने का एक बार फिर दावा किया है।

ऊपर से नीचे तक 17 अफसरों ने मिलकर किया था घोटाला

एसपी बाबूराम ने बताया कि इसमें स्कूल प्रबंधन ने समाज कल्याण अधिकारी, डीआईओएस, एसबीआई बैंक और पीएनबी बैंक समेत अन्य के 17 अफसरों से साठगांठ करके करीब 1 करोड़ की छात्रवृत्ति हड़पी थी। मामला खुलने पर एफआईआर दर्ज हुई थी। इसके बाद शासन के आदेश पर आर्थिक अपराध शाखा ने जांच शुरू की थी।

खबरें और भी हैं...