• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • People Who Came To Get The Vaccine Were Beaten Up, Surrounded The Woman And Her Brother With Sticks And Sticks, The Vaccine Camp Was Organized By The BJP Councilor, Baghai, BJP Parshad, Vaccination Cmap, Kanpur Police, Kanpur

वैक्सीनेशन कैंप में पार्षद पुत्र की गुंडई:कानपुर में वैक्सीन लगवाने आए लोगों से मारपीट की, महिला व उसके भाई को घेरकर लाठी-डंडों से पीटा

कानपुर4 महीने पहले
महिला के भाई को लाठी-डंडों से पीटते हुए आरोपी पार्षद पुत्र के साथी।

कानपुर में मंगलवार को वैक्सीनेशन कैंप में आई महिला को लाठी-डंडों से पीटा गया। बाकरगंज, बगाही पार्क में लगे कैंप में पीड़ित महिला ने भाजपा पार्षद के पुत्र अविनाश पाल और उसके साथियों पर मारपीट का आरोप लगाया। कहा, महिला के साथ उसके भाई को कई युवकों ने पीटा है। इस मामले का वीडियो भी वायरल हो गया। बता दें कि इस कैंप का आयोजन भाजपा पार्षद की ओर से किया गया था।

कैंप में वैक्सीन लगवाने आई पीड़ित महिला अर्चना सिंह ने आरोप लगाया कि पार्षद द्वारा कैंप का आयोजन किया गया था। वैक्सीन होने के बावजूद हमें लौटाया जा रहा था। वो बार-बार बिना वैक्सीन लगवाए जाने के लिए कह रहे थे। वैक्सीन लगवाने को लेकर बहस हुई और पार्षद के साथ रहने वाले कई लड़कों ने लाठी-डंडों से हमला बोल दिया। पार्क में मुझे और मेरे भाई को दौड़ा-दौड़ाकर लाठी-डंडों से पीटा।

महिला के साथ मारपीट करते हुए पार्षद के गुंडे।
महिला के साथ मारपीट करते हुए पार्षद के गुंडे।

मारपीट के दौरान गेट किया बंद
आरोप है कि भीड़ अधिक होने की वजह से पार्षद के लोग अपने लोगों को वैक्सीन लगवाना चाहते थे। ऐसे में स्लॉट लेकर आए लोगों को भी वापस किया जा रहा था। इसका विरोध करने वाले लोगों के साथ पार्षद पुत्र के साथ रहने वाले लोगों ने मारपीट शुरू कर दी। पार्क को गेट तक बंद कर दिया गया। महिला के भाई संतोष कुमार सिंह ने मारपीट करने वाले एक युवक शुभम ठाकुर की पहचान की है। इसके बावजूद पुलिस पार्षद को बचाने में जुटी है।

पीड़ित महिला अर्चना सिंह ने रो-रोकर सुनाई आपबीती।
पीड़ित महिला अर्चना सिंह ने रो-रोकर सुनाई आपबीती।

पुलिस भी आई बचाव में
बाबूपुरवा इंस्पेक्टर देवेंद्र विक्रम सिंह ने बताया कि महिला ने खुद मारपीट की है। डॉक्टर के जाने का समय हो गया था। इसके बावजूद महिला वैक्सीन के लिए जिद कर रही थी। वहीं, पूरे मामले में पार्षद अशोक पाल ने बताया कि 12 बजे तक मैं कैंप में था, इसके बाद मैं नगर निगम आ गया था। वहीं, मेरा बेटा अविनाश कोयला नगर स्थित अपने शोरूम में था। आसपास के सीसीटीवी से जांच करा ली जाए।

खबरें और भी हैं...