कानपुर का राष्ट्रपति दौरा होगा खास:प्रेसीडेंशियल ट्रेन से नहीं देश की सबसे महंगी ट्रेन से कानपुर आएंगे राष्ट्रपति, दुनिया में बेहद अनोखी है ये ट्रेन

कानपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ट्रेन के हर एक कोच में है राजशाशाही इंतजाम किए गए हैं। - Dainik Bhaskar
ट्रेन के हर एक कोच में है राजशाशाही इंतजाम किए गए हैं।

25 जून को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद कानपुर दौरे पर रहेंगे। उनका दौरा इस बार बेहद खास होने वाला है। वे पहली बार बतौर राष्ट्रपति दिल्ली से ट्रेन के जरिए कानपुर पहुंचेंगे। माना ये जा रहा था कि राष्ट्रपति प्रेसीडेंशियल ट्रेन से आएंगे। लेकिन अब देश की सबसे महंगी ट्रेन महाराजा एक्सप्रेस उनके दौरे के लिए तैयार की जा रही है। इसको लेकर इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कार्पोरेशन (आईआरसीटीसी) ने भी तैयारियां शुरू कर दी हैं।

ट्रेन में कुछ ऐसा है प्रेसीडेंशियल सुइट।
ट्रेन में कुछ ऐसा है प्रेसीडेंशियल सुइट।

काफी पुरानी हो चुकी है ट्रेन
रेलवे के विश्वस्त सोर्सेज के मुताबिक प्रेसीडेंशियल ट्रेन का यूज 18 साल पहले किया गया था। ऐसे में अब उस ट्रेन में प्रेसीडेंट के लिहाज से सुविधाओं में काफी इजाफा करना पड़ेगा। इसमें टाइम भी लगेगा। इसलिए महाराजा एक्सप्रेस को तैयार किया जा रहा है। इस ट्रेन में पहले से प्रेसीडेंशियल सुइट भी मौजूद हैं। वहीं ये ट्रेन राष्ट्रपति के लिए 12 कोच की तैयार की जाने की चर्चा है।
पैतृक गांव में रुक सकते हैं
सूत्रों के मुताबिक संभावना है कि राष्ट्रपति रास्ते में गांव के नजदीक झींझक और रूरा स्टेशन पर भी रुक सकते हैं और लोगों से मुलाकात कर सकते हैं। बता दें कि राष्ट्रपति की भाभी और अन्य रिश्तेदार झींझक में ही रहते हैं। इसके बाद ट्रेन सीधे कानपुर सेंट्रल स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर-1 पर रुकेगी। ट्रेन के आने से कुछ घंटे पहले प्लेटफॉर्म नंबर-1 और 2 पर संचालन पूरी तरह से बंद कर दिया जाएगा।
दुनिया की लग्जरी ट्रेनों में शुमार
पहियों के ऊपर दौड़ती हुई इस ट्रेन की गिनती बेहतरीन फाइव स्टार होटल की तरह होती है। इसका किराया भी लाखों में होता है। 23 कोच वाली इस ट्रेन में 43 शानदार केबिन हैं। इस ट्रेन का सफर बेहद आरामदायक और खुशनुमा माना जाता है। इसमें देश और विदेश के नामी-गिनामी लोग ही सफर करते हैं। इसमें एक प्रेसीडेंशियल सुइट भी है, जिस पूरे एक कोच में बनाया गया है।
इसलिए भी है बेहद खास

  • जिन प्लेटों में खाना परोसा जाता है, उसमें सोने की पर्त चढ़ी है।
  • पानी चांदी के गिलासों में सर्व किया जाता है।
  • ट्रेन में 2 रेस्टोरेंट मोर महल और रंग महल बेहद खास हैं।
  • ट्रेन का टिकट 2 लाख से 16 लाख रुपए तक होता है।
  • कोच की छत खुले आसमान का अहसास कराती है।
  • सुइट के अंदर बने लिविंग रूम को मकराना मार्बल से तैयार किया गया है।
खबरें और भी हैं...