पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Principal Secretary And Nodal Officer Reached Kursauli Village, Met The Relatives Of The Deceased, Got Dengue Tested In The Village Kanpur

भास्कर की खबर का हुआ असर:कुरसौली गांव पहुंचे प्रमुख सचिव और नोडल अधिकारी, मृतकों के घर वालों से मिले, गांव में कराई डेंगू की जांचे

कानपुर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रमुख सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन और नोडल अधिकारी अनिल गर्ग डीएम अलोक तिवारी - Dainik Bhaskar
प्रमुख सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन और नोडल अधिकारी अनिल गर्ग डीएम अलोक तिवारी

कानपुर में इन दिनों डेंगू कहर ढा रहा है। जिले के कल्याणपुर क्षेत्र का कुरसौली गांव डेंगू का हॉटस्पॉट बना हुआ है। सरकारी आकड़ों के हिसाब से गांव में अब तक चार लोगों की मौत हो चुकी है, लेकिन गांव वालों का कहना है की पूरे गांव में अब तक डेंगू और बुखार से 6 लोगों की मौत हुई है। इस गांव में हुई मौतों के बाद सोमवार दोपहर कुरसौली गांव में डेंगू के बढ़ते मामलों का जायजा लेने प्रमुख सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन और नोडल अधिकारी अनिल गर्ग डीएम अलोक तिवारी के साथ पहुंचे। प्रमुख सचिव ने डेंगू के मरीजों के हाल जानने के साथ अपने सामने ही कई मरीजों की जांच भी करवाई।

6 मौतों के बाद जागा प्रशासन...

गांव में हुई मौतों के बाद सोमवार को कोई बड़ा अधिकारी इन गांव वालों क हाल चाल पूछने पंहुचा। आपको बता दें शुक्रवार को डीएम ने सीएमओ डॉ नेपाल सिंह को इस गांव में कैंप करने के आदेश दिए थे, लेकिन सीएमओ ने खानापूर्ति करते हुए सिर्फ एक टीम भेजी और वह भी सिर्फ वह का जायजा लेकर वापस आगई। नई तो उन्होंने किसी की जांच की और ना ही कोई सैंपल कलेक्ट किए। आज जब इस गांव से ६ अर्थियां उठ चुकी है तब जा कर कहीं डीएम और नोडल अधिकारी को यहां की याद आयी।
मृतकों के घर का किया दौरा...

नोडल अधिकारी अनिल गर्ग ने मृतकों के घर जाकर परिवार का हालचाल जाना। नोडल अधिकारी ने अपने सामने ही मृतकों के परिवार वालों का भी डेंगू टेस्ट करवाया। साथ ही गांव में मौजूद डॉक्टरों की टीम को निर्देश दिए कि जल्द से जल्द यहां गांव वालों की डेंगू की जांच करें और पॉजिटिव पाए जा रहे मरीजों को हैलट में अच्छे इलाज के लिए भर्ती करवाए।

कहीं कोरोना की तरह डेंगू के भी आकड़ें तो नहीं छुपा रहा है प्रशासन...

आपको बता दें पुरे शहर में डेंगू से अब तक 22 लोगों की मौत हो चुकी है और तक़रीबन 50 से ज्यादा मरीज शहर के अलग अलग अस्पतालों में भर्ती है। लेकिन प्रशासन के आकड़ें कुछ और ही कह रहे है। प्रशासन के हिसाब से शहर में अब तक सिर्फ चार मौतें हुई है, वो भी कुरसौली गांव में। इसके आलावा ारकारी आकड़े के हिसाब से शहर में अब तक सिर्फ 16 ही लोग डेंगू पॉजिटिव पाए गए है और इनमे से 14 लोग ठीक भी हो चुके है।

वायरल वार्ड में तब्दील हुआ गांव हर एक घर...
कुरसौली गांव को ज्यादातर घरों में बुखार ने अपनी जगह बना ली है। यहां का हर एक घर अस्पताल के वार्ड के रूप में तब्दील हो गया है। प्रत्येक घर में बुखार के दो-तीन मरीज मौजूद है। स्वास्थ्य विभाग की टीम घर-घर जाकर लोगों की देखभाल कर रही है व उन्हें पर्याप्त दवाएं मुहैया करा रही है। वहीं गांव के प्राथमिक विद्यालय को अस्थाई अस्पताल में तब्दील कर दिया गया है। यहां पर अस्पतालों की ओपीडी जैसा नजारा दिख रहा है। गांव में मिलने वाले डेंगू के संदिग्ध मरीजों की जांच की जा रही है। साथ ही गंभीर लक्षण वाले मरीजों का इलाज किया जा रहा है।

एंटी लार्वा का किया जा रहा छिड़काव...
गांव में मच्छर जनित बीमारियों को पनपने से रोकने के लिए एंटी लार्वा का छिड़काव किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की टीम लोगों के घरों में मौजूद गमलों व कूलर व फ्रिज में जमा पानी को निकाल कर दवा का छिड़काव कर रही है। इसके अलावा पूरे गांव में लगातार फांगिग की जा रहा है। वहीं, गांव के लोगों को मच्छर जनित बीमारियों से बचने के लिए जरूरी प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की जा रही है।

खबरें और भी हैं...