• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Protest Against Harassment Of Small Traders In The Name Of Mismatch And Investigation, Officials Said Wrong Action, Traders Will Tell Action. Kanpur

उत्पीड़न के खिलाफ़ जीएसटी कार्यालय का व्यापारियों ने किया घेराव:मिसमैच और जांच के नाम पर छोटे व्यापारियों के उत्पीड़न को लेकर हुआ विरोध प्रदर्शन कर दिया ज्ञापन, अधिकारी बोले गलत कार्यवाही व्यापारी बताये लेंगे एक्शन

कानपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जीएसटी कार्यालय के बाहर अधिकारी को ज्ञापन देते व्यापारी - Dainik Bhaskar
जीएसटी कार्यालय के बाहर अधिकारी को ज्ञापन देते व्यापारी

सचल दल द्वारा व्यापारियों के उत्पीड़न के खिलाफ़ GST कार्यालय का घेराव किया गया। ज्ञापन देकर व्यापारियों ने मांग रखी, कि शहरी सीमा में माल वाहक वाहनों के जांच में रोक लगाई जाये। वैट के तीन एवं जीएसटी के नौ महीने के 2017 -18 के केस में मिसमैच होने के नाम पर भारी संख्या में भेजी गई नोटिसों का निस्तारण किया जाये। जीएसटी कार्यालय लखनपुर में अपर आयुक्त ग्रेड वन पीके सिंह से कहा गया कि अगर कोरोनकाल से पीड़ित व्यापारियों को परेशान किया गया है तो वही सड़क पर उतरकर विरोध किया जाएगा।
सुबह से रात 12 तक जांच बन्द करने मांग

प्रदेश वरिष्ठ महामंत्री ज्ञानेश मिश्र ने कहा कि सचल दल इकाइयों के पुलिस वाले छोटे व बड़े वाहनों से उगाही करते है। पिछले कुछ दिनों से सचल दल इकाइया शहरी सीमा में व्यापारियों का उत्पीड़न कर रही है। व्यापारियों ने कहा की पूर्व आदेश के मुताबिक शहर की सीमा में सुबह 7 बजे से रात 12 बजे तक सचल दल इकाइयों की जांच नही होने चाहिये वर्ना विरोध होगा। यह भी कहा कि सन 2017 -18 में वैट के कर निर्धारण केस समय से पहले एक्स पार्टी कर दिए गए। अब धारा 32 में केस नही किये जा रहे है ।

मिसमैच को आधार बना हो रहा उत्पीड़न,

महानगर अध्यक्ष सरदार गुरुजिन्दर सिंह ने कहा कि सन 2017 -18 में वैट के तीन माह एवं जीएसटी के नौ महीने के केस में मिसमैच होने के नाम पर भारी संख्या में नोटिस भेजी जा रही है। वर्तमान में माल खरीदने पर बिक्री करने से भी पहले वाला व्यापारी टैक्स नही जमा करता है, तो तीसरे व्यापारी को नोटिस भेजा जा रहा है। लोहा कारोबारी शशांक दीक्षित ने कहा कि कहा कि एस आई बी के एक मामले में एस आई बी के अधिकारियों को स्टॉक का पूरा मिलान कराने के बावजूद परेशान किया का रहा है।

व्यापारियों का नहीं होगा उत्पीड़न

अपर आयुक्त ग्रेड 1 पी के सिंह ने कहा कि विशेष परिस्थितियों में मुख्यालय की सूचना को छोड़कर शहर की सीमा में छोटे बड़े वाहनों की जांच नही की जाएगी। वैट के 2017-18 के मामलों में मिसमैच के केस में किसी भी व्यापारी को परेशान नही किया जाएगा। उन्होंने कहा कि फिर भी यदि किसी को कोई परेशान किया जाये तो वह उनसे संपर्क कर सकता है।

खबरें और भी हैं...