पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उदास चेहरों पर राजू ने बिखेरी मुस्कान:कोरोना से अनाथ हुईं कानपुर की बच्चियों से मुंबई में की मुलाकात; पूछा- हाथी बच्चा देता है या अंडा... खिलखिलाकर हंस पड़ीं दोनों

कानपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राजू श्रीवास्तव ने दोनों बच्चियों से कानपुर में उनके घर आकर मिलने का भी वादा किया। - Dainik Bhaskar
राजू श्रीवास्तव ने दोनों बच्चियों से कानपुर में उनके घर आकर मिलने का भी वादा किया।

कोरोना महामारी से अपने माता-पिता को खोने वाली दो बच्चियों खुशी और प्रिया उर्फ परी को कुछ पल हंसने के लिए मिले। हास्य कलाकार राजू श्रीवास्तव ने इन बच्चियों से मुंबई में मुलाकात की। राजू श्रीवास्तव ने पहले तो उनके सिर पर हाथ रखकर लाड-प्यार किया। इसके बाद उनके साथ खूब मस्ती की। इसके बाद कानपुर लौटने पर उनके घर आने का भी वादा किया। उन्होंने आर्थिक मदद भी दी है।

हाथी अंडा देता या बच्चा...

राजू ने दोनों बच्चियों से पूछा, यह बताओ अच्छा हाथी अंडा देता है या बच्चा। इस पर खुशी और प्रिया दोनों ने कहा कि हाथी बच्चा देता है तो राजू बोले कि नहीं हथिनी बच्चा देती है। इसके बाद राजू ने दूसरा हास्य व्यंग छोड़ा। कहा कि एक बार एक दांतों के डॉक्टर के पास एक शैतान बच्चा पहुंचा, और उसने पूछा कि डॉक्टर साहब जब दांत निकालते हैं तो दर्द होता है क्या। डॉक्टर ने कहा होता है थोड़ा बहुत दर्द होता है। तो शैतान बच्चा बोला कि नहीं हम दांत निकालते हैं तो बिल्कुल भी दर्द नहीं होता है। इस पर डाक्टर ने पूछा कैसे ? तो उसने अपनी बत्तीसी दिखाई और हंस दिया बोला ऐसे।

इस पर दोनों बच्चियां खूब तेज हंसी। इसके बाद राजू ने एक तीसरी बात छेड़ी। जिसमें राजू ने बताया कि एक बार टीचर ने बच्चे से पूछा की 15 फलों के नाम बताओ। 15 फलों के नाम बताओ तो उसने बताया एप्पल, पाइनएप्पल, मैंगो और एक दर्जन केला इस तरह राजू ने उन बच्चियों को हंसा कर लोटपोट करने का काम किया।

मकान मालिक कर रहे देखभाल

खुशी और प्रिया के माता पिता का कोरोना में निधन हो गया था। उसके बाद से उनकी देख रेख कर रहे मकान मालिक प्रेम पांडेय ही कर रहे है। प्रेम पांडेय मुंबई में अपनी बेटी के दर गए हुए हैं। वह साथ में खुशी और प्रिय को भी ले गए। इस बात की जानकारी जब राजू श्रीवास्तव को हुई तो उन्होंने दोनों बच्चियों को अपने मुम्बई स्थित घर पर बुलाकर हालचाल लिया। पहले माहौल कुछ गमगीन रहा। लेकिन जल्द ही हास्य कलाकार ने माहौल को सामान्य करके हंसी में बदल दिया। राजू ने इन दोनों बच्चियों को खूब हंसाया। यूपी फिल्म बोर्ड के चेयरमैन राजू श्रीवास्तव ने दोनों बेटियों के केअर टेकर प्रेम पांडे के बैंक अकाउंट में 16 हजार रुपए ट्रांसफर कर आर्थिक मदद करने का कार्य किया।

बच्चियों की मदद के लिए आगे आए व्यापारी

कोविड सेवा व्यापारी ग्रुप और अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल ने दोनों बच्चियों के लिए सहयोग कर चुके हैं। प्रदेश महामंत्री ज्ञानेश मिश्र व साथियों ने 7 जून को खुशी व प्रिया को तीन माह का राशन केयर टेकर को दिया था। दोनों बच्चियों को चार जोड़ी कपड़े व 11 हजार रुपए की चेक भी दी गई है।

खबरें और भी हैं...