एट रिस्क देशों से पखवाड़े भीतर 150 लोग लौटे:सबकी दोबारा हो रही सैंपलिंग, ओमिक्रॉन की पहली मरीज 18 दिसंबर को आई थी कानपुर

कानपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पिछले 15 दिनों में एट रिस्क देशों से शहर लौटे करीब 150 से ज्यादा लोग। - Dainik Bhaskar
पिछले 15 दिनों में एट रिस्क देशों से शहर लौटे करीब 150 से ज्यादा लोग।

विदेश से छुट्टियों पर लौटे लोगों में ओमिक्रॉन की पुष्टि के बाद स्वास्थ्य महकमा अलर्ट मोड पर आ गया है। पिछले 15 दिनों में एट रिस्क (जोखिम वाले) देशों से शहर लौटे करीब 150 से ज्यादा लोगों की दोबारा जांच की जा रही है। सीएमओ डॉ. नेपाल सिंह ने बताया कि हम लोगों ने अपनी सर्विलांस टीमों को इन सभी लोगों की दोबारा सैंपलिंग करवाने के लिए कहा है।

ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि ओमिक्रॉन के लक्षण कई दिनों बाद मरीजों में देखने को मिल रहे हैं। अभी हाल ही में जिन दो महिलाओं में ओमिक्रॉन की पुष्टि हुई थी उनमें भी इसके लक्षण करीब 10 से 12 दिनों बाद देखने को मिले थे। विदेशों से लौट रहे लोगों को कम से कम सात दिनों तक होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी गई है। जिन लोगों की लोकेशन नहीं मिल पा रही है, उन्हें हम फोन कर के ट्रेस करने की कोशिश कर रहे हैं।

सभी को एहतियात बरतने की सलाह
सीएमओ डॉ. नेपाल सिंह ने बताया, भारत सरकार द्वारा एट रिस्क देशों की एक सूची बनाई गई है। इसके हिसाब से करीब 150 लोग पिछले 15 दिनों में शहर वापस लौटे हैं। इन सभी की सैंपलिंग प्लेन से उतरते ही की गई थी। ओमिक्रॉन के लक्षण थोड़े दिनों बाद उभर कर सामने आते हैं। इसलिए हम लोग इन सभी की सैंपलिंग दोबारा कर रहे हैं।

उन्होंने बताया कि इंग्लैंड से लौटे एक अन्य युवक को एक महीने बाद कोरोना पॉजिटिव पाया गया। इसलिए रेड जोन देशों से आए लोगों को सावधानी बरतने की सलाह दी जा रही है। शहर लौट रहे सभी लोगों को सात दिन तक घर में क्वारंटीन रहने होता है। इसके बाद भी हम लोगों ने सभी को एहतियात बरतने की भी सलाह दी है।

कानपुर पहुंचा ओमिक्रॉन...
शहर में एक ओमिक्रॉन पॉजिटिव मरीज स्वरुप नगर निवासी महिला है, जो 18 दिसंबर को इंग्लैंड से लौटी थी। पांच दिन बाद उसमें कोरोना जैसे कुछ लक्षण आए, तो 23 दिसंबर को उसने अपनी जांच कराई। इसमें वह कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी। उसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने उसके सैंपल के आलावा उसके परिजनों का भी दोबारा सैंपल लिया। 29 दिसंबर को ओमीक्रॉन की जांच के लिए उस सैंपल को भेजा, जिसमें चार जनवरी को ओमिक्रॉन की पुष्टि हुई।

खबरें और भी हैं...