पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भागने के फिराक में आतंकी हलमंडी:यूपी के अति संवेदनशील जिलों में हलमंडी की लोकेशन से सिक्योरिटी एजेंसीज अलर्ट

कानपुर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों ने यूपी के अतिसंवेदनशील जिलो में सतर्कता और ज्यादा बढ़ा दी है। खुफिया इनपुट के मुताबिक़ गजावत-उल- हिंद का कमांडर इन चीफ उमर हलमंडी यूपी में ही कहीं छिपा है। यूपी के रास्ते हलमंडी देश से बाहर निकलने की कोशिश में भी है। हालांकि सुरक्षा एजेंसियों ने हलमंडी की कड़ी घेराबंदी कर दी है। अगले दो दिनों तक मिनहाज, मसीरुद्दीन, मुस्तकीम, शकील और जैद के परिजनों को पूछताछ के लिए बुलाया गया है। जैद के पिता ने बताया कि बेटे के रास्ते ठीक न होने की वजह से उसे घर से बेदख़ल किया जा चुका है। इसकी पुष्टि सीडीआर से भी हो गई है। ATS सूत्रों की माने तो 15 अगस्त से पहले पूरे आतंकी माड्यूल बस्र्ट करने का टारगेट दिया गया है।

कई ट्रैवल एजेंट निशाने पर

एटीएस के रडार पर शहर के कई बड़े ट्रेवेल एजेंट हैैं। पड़ताल में ख़ुफ़िया एजेंसी को जानकारी मिली है कि मिनहाज और मसरुद्दीन लॉकडाउन के दौरान कई बार दिल्ली आए गए थे।ट्रेवल्स एजेंट से कार उपलब्ध कराई गई थी। टीम को पेट्रोल पंप से सीसीटीवी फुटेज मिल गई है, जहां से गाड़ी में पेट्रोल भरवाया गया था। इसी फुटेज में कार का जो नंबर भी दिखाई दे रहा है। उसका मध्य प्रदेश की बस के नाम रजिस्ट्रेशन है। इसके बाद से एटीएस को शक है कि चोरी की गाड़ी के इस्तेमाल किया भी किया जा सकता है।

जांच के लिये फुटेज एफएसएल भेजी गई

एटीएस ने मिनहाज और मसरुद्दीन के मूवमेंट से जुड़े कुछ फुटेज हासिल किए हैैं। ये जानकारी तो हो गई है कि ये फुटेज लखनऊ और कानपुर में कहां के हैैं। इसके बाद भी इविडेंस मजबूत करने के लिए इन फुटेज को एफएसएल में जांच के लिए भेजा गया है. मिनहाज के घर से मिले गनपाउडर, केमिकल, विदेशी साहित्य, कपड़े और कुछ चीजें एफएसएल भेजे गए हैैं। एटीएस सूत्रों की माने तो इससे बड़ा इविडेंस मिलेगा और पकड़े गए लोगों को ज्यादा दिनों तक जेल में रखा जा सकेगा।

खबरें और भी हैं...