• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • SIT Investigated Three Books Written By Senior IAS Iftkharuddin, Then It Was Revealed, Big Action Will Be Taken In The Case Soon, Investigation May Be Transferred To ATS, Islam Tops In Third Book

IAS इफ्तिखारुद्दीन की किताब में धर्मांतरण की सीख:SIT ने IAS की 3 किताबें पढ़ीं.. फिर बोले- ये किताब वीडियो से ज्यादा जहरीली; ATS को ट्रांसफर हो सकती है जांच

कानपुर2 महीने पहले

कट्‌टरता व धर्मांतरण की पाठशाला चलाने में फंसे सीनियर आईएएस की एसआईटी जांच में बड़ा खुलासा हुआ है। एसआईटी की जांच रिपोर्ट के मुताबिक आईएएस ने अपनी किताब में हिन्दू धर्म के प्रति जहर उगला है। किताब में लिखे शब्द वीडियो से ज्यादा जहरीले हैं। एक-एक शब्द की जांच करके आपत्तिजनक शब्दों को रिपोर्ट में शामिल किया जा रहा है। एसआईटी जल्द ही शासन को अपनी रिपोर्ट देगी।

तीसरी किताब में इस्लाम सर्वोपरि...
आईएएस के खिलाफ जांच कर रही एसआईटी ने उनकी तीसरी किताब भी जुटा ली है। कुल तीन किताबों की जांच की है। इसमें इस्लाम को सर्वोपरि और अन्य धर्मों को दरकिनार करने की बात कही गई है। धर्मांतरण के फायदे भी गिनाए गए हैं। एसआईटी इन सभी तथ्यों को बेहद अहम साक्ष्य माना है। एसआईटी के अनुसार वीडियो से अधिक पुख्ता सबूत ये साहित्य हैं।

तीसरी किताब जिसका नाम शुद्ध धर्म है। इस किताब को भी लोगों में वितरित किया गया। सूत्रों के मुताबिक वीडियो की अपेक्षा ये साहित्य आईएएस के खिलाफ ज्यादा मजबूत साक्ष्य हैं। जानकारी मिली है कि साहित्य में दूसरे धर्मों की बुराई की गई है। तमाम कट्टरता भरे प्रसंग भी उसमें लिखे गए हैं। एसआईटी ने उर्दू के जानकारों से साहित्य के तमाम लेख हिंदी में अनुवाद कराए हैं।

आईएएस इफ्तखारुद्दीन
आईएएस इफ्तखारुद्दीन

धर्मांतरण के लिए प्रेरित करने वाले तथ्य मिले...
यूपीएसआरटीसी के एमडी सीनियर आईएएस इफ्तखारुद्दीन का धर्मांतरण व कट्टरता की पाठशाला चलाने का वीडियो वायरल हुआ था। इसके बाद शासन ने पूरे मामले का संज्ञान लेते हुए सीबीसीआईडी के डीजी जीएल मीणा की अध्यक्षता में जांच के लिए एक एसआईटी का गठन किया था। एसआईटी की जांच में वीडियो के अलावा आईएएस इफ्तखारुद्दीन की तीन किताबें शुद्ध धर्म, शुद्ध भक्ति और शुद्ध उपासना तथा नमन नाम की किताबें सामने आई थीं।

इन तीनों किताबों को सीनियर आईएएस ने लिखा है। इतना ही नहीं इसे कानपुर में तैनाती के दौरान कई जगह वितरित भी किया गया था। तीनों किताबों की जांच में सामने आया कि हिन्दू धर्म को लेकर कई आपत्तिजनक बातें लिखी हैं। एक-दो नहीं तीनों किताबों में इस तरह के तथ्य सामने आए हैं।

65 वीडियो भी सामने आ चुके हैं...
जांच में शामिल एक अफसर ने बताया कि आईएएस के तकरीरों वाले 65 वीडियो सामने आए थे। इन वीडियो में धर्मांतरण से लेकर कट्टरता की बात सामने आई थी, लेकिन किताब में वीडियो से कई गुना ज्यादा तथ्य सामने आए हैं। इससे यह साबित हो रहा है कि सीनियर आईएएस धर्म के प्रचार प्रसार के साथ ही दूसरे को धर्मांतरण के लिए भी प्रेरित करने का काम कर रहे हैं। कार्रवाई का सबसे बड़ा आधार तीन किताबें ही बनेंगी।

मामले की एटीएस को ट्रांसफर हो सकती है जांच...
एसआईटी जल्द ही पूरे मामले की जांच शासन को सौंपेगा। सूत्रों की मानें तो जांच रिपोर्ट में कई ऐसे तथ्य सामने आए हैं जो धर्मांतरण से लेकर देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने जैसा है। इसके चलते इस पूरे मामले की जांच अब शासन की ओर से एटीएस को ट्रांसफर की जा सकती है। इसके बाद एटीएस मामले में एफआईआर दर्ज कराने के साथ ही बड़ी कार्रवाई करेगा।

खबरें और भी हैं...