• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • So Far, Survey Of 41232 Houses Has Been Done, Samples Have Been Sent For More Than 1900 People, 133 Pregnant Women Have Been Identified, Chakeri Air Force Station Is Also On High Alert. Kanpur

कानपुर में जीका के बाद अलर्ट मोड पर प्रशासन:अब तक 41232 घरों का किया है सर्वे, 1900 से ज्यादा लोगों के लिए जा चुके है सैंपल

कानपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डीएम और अन्य अधिकारियों ने किय - Dainik Bhaskar
डीएम और अन्य अधिकारियों ने किय

कानपुर में जीका वायरस के 10 पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद से जल जनित रोगों पर अंकुश लगाने के लिए सभी आवश्यक प्रबंध सुनिश्चित करने के साथ ही जमीनी स्‍तर पर हर संभव प्रयास जारी है। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने भी शहर में जीका संक्रमण के नए मामलों की पुष्टि होने पर स्वास्थ्य विभाग को दिशा निर्देश जारी करते हुए वृहद स्तर पर सर्विलांस कार्यक्रम करने के निर्देश दिए थे। जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की टीमों की ओर से घर-घर जाकर संवेदीकरण, जांच, इंडोर स्प्रे, घरों के बाहर लार्विसाइडल स्प्रे और फॉगिंग का काम तेज कर दिया है। अब तक शहर के 41232 घरों के डेढ़ लाख से अधिक लोगों को जागरूक करने के अलावा रैंडम सैंपल कलेक्ट करने का कार्य भी तेज कर दिया है। अब तक शहर से 1900 से ज्यादा लोगों के सैंपल कलेक्ट करके जाँच करने के लिए भेजे जा चुके है।

अलर्ट मोड पर प्रशासन, शासन और स्वास्थ्य विभाग
शहर में जीका वायरस के मामलों को देखते हुए प्रदेश सरकार के अलावा प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर काम कर रहा है। कानपुर नगर में जीका वायरस के अब तक 10 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार रात को हाई लेवल बैठक में शहर के आला अधिकारियों को माइक्रो लेवल पर इन बीमारी को फैलने और इस रोग के उपचार और बचाव के संबंध में सभी प्रबंध सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए। आपको बता दें सूबे में पहला जीका वायरस का मरीज की पुष्टि 22 अक्टूबर को हुई थी।

शुक्रवार देर शाम तक 745 जांचों में मिले 10 लोग

रविवार को एक हज़ार से ज्यादा लोगों के सैंपल लिए गए। शुक्रवार शाम तक हुई 745 रैंडम जांचों में लोगों के सैंपल की जांच केजीएमयू भेजे जा चुके थे उन्ही जांचो की रिपोर्ट रविवार को आयी जिसमें 6 और मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जिसमें से 396 सैंपल बुखार के लक्षण युक्त लोगों, 163 सैंपल गर्भवती महिलाओं और अन्‍य सर्विलांस रणनीति के तहत सैंपल एकत्र किए गए हैं। केजीएमयू में 745 सैंपल की जांच में से 09 लोगों में जीका वायरस की पुष्टि हुई है वहीं 01 रोगी की जांच एनआईवी पुणे से पॉजिटिव पाई गई इस तरह अब तक प्रदेश में कुल 10 जीका वायरस से ग्रसित लोगों की पुष्टि हुई है।

गर्भवती महिलाओं को किया गया है चिह्नित
शहर में 133 गर्भवती महिलाओं को चिह्नित किया गया है। यह वह महिलाएं हो जो पहले मिले मरीज के घर के चार किलोमीटर के दायरे में रहती है। इन सभी महिलाओं को दिन में तीन बार शहर की लोकल स्वास्थ्य टीमें मॉनिटर कर रही है। वहीं जिन मरीजों को बुखार आ रहा है उनको घर पर ही आइसोलेशन में रख कर पुरे घर के अन्य परिजनों के सैंपल कलेक्ट किए जा रहे है।

नगर निगम भी अलर्ट मोड पर कर रही है काम
सीएमओ डॉ नेपाल सिंह ने बताया, मुख्‍यमंत्री के आदेश के बाद ने स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम के अधिकारियों और सभी संबंधित विभागों को डेंगू और जलजनित बीमारियों के कुछ मामलों को देखते हुए चिकित्सा सुविधाओं और साफ-सफाई का ध्यान रखने के निर्देश जारी कर दिए गए है।

जारी आदेश के तहत शहर में स्वास्थ्य विभाग की टीम की टीम इस इलाके से जुड़े ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में पर अपना सर्विलांस जांच का दायरा बढ़ाएगी। जिसके तहत घर-घर जाकर बुखार से पीड़ित और जीका के लक्षण वाले लोगों को चिन्हित किया जा रहा है।

एयरफोर्स स्टेशन में मचा है अफरातफरी
इतने मरीज मिलने के बाद चकेरी एयरफोर्स स्टेशन में दहशत का माहौल है। एयरफोर्स की पांच टीमें एन-4,5, 2,1 और स्टेशन के अंदर बने गांव बीबीपुर, गऊखेड़ा, और अन्य जगहों पर फॉगिंग और एंटी लार्वा का छिड़काव कर रही है। इसके अलावा बाहर से आने वाले अधिकारियों को भी कुछ समय के लिए स्टेशन में आने से मना कर दिया गया है। एचएएल में भी अलर्ट जारी कर किया जा रहा है बुखार के मरीजों की जाँच।

जीका के ये हैं लक्षण
स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के मुताबिक बुखार, बदन दर्द, शरीर पर रैशेज जीका के प्रमुख लक्षण हैं। रोग के गंभीर होने की स्थिति में मायोकार्डिटिस, रीनल फेलियर एवं न्यूरोलॉजिकल लक्षण भी आ सकते हैं।

खबरें और भी हैं...