• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Son And Daughter in law Thrashed Parents Out Of The House, Kanpur Commissioner, Performing Son's Duty, Sent Son daughter in law To Jail For Harassing Parents

कानपुर... बुजुर्ग मां-बाप को पीटकर घर से निकाला:बेटे और बहू की करतूत सुनकर पुलिस कमिश्नर भड़के, खुद फोर्स लेकर बुजुर्ग के घर पहुंचे, बेटे-बहू को भेजा जेल; देखें VIDEO

कानपुर3 महीने पहले

कानपुर से रिश्तों को शर्मशार करने वाली घटना सामने आई है। यहां बेटे-बहू ने अपने 70 साल के बुजुर्ग मां-बाप को पीटकर घर से बाहर निकाल दिया। बुजुर्ग दंपति ने रोते-बिलखते चौकी इंचार्ज से लेकर DCP तक से मदद की गुहार लगाई लेकिन किसी ने नहीं सुनी।

आखिरी उम्मीद लेकर पुलिस कमिश्नर असीम अरुण के पास पहुंचे तो उनका दिल पसीज गया। बेटे-बहू की करतूत सुनकर कमिश्नर भड़क उठे और फोर्स के साथ खुद बुजुर्ग दंपति को लेकर उनके घर पहुंच गए। कमिश्नर के आदेश पर पुलिस ने तुरंत बुजुर्ग के बेटे-बहू को गिरफ्तार कर लिया और जेल भेज दिया। बुजुर्ग दंपति को सम्मान के साथ उनका घर वापस दिला दिया।

मां-बाप चल भी नहीं पा रहे थे
मामला जेके कॉलोनी जाजमऊ का है। यहां रहने वाले 70 वर्षीय बुजुर्ग अनिल कुमार शर्मा और उनकी पत्नी कृष्णा देवी को बेटे-बहू ने पीटकर घर से बेदखल कर दिया। बुजुर्ग दंपति चौकी, थाना और डीसीपी ईस्ट के पास गए। लेकिन किसी ने ठीक से सुना तक नहीं। इसके बाद दोनों पुलिस कमिश्नर असीम अरुण के पास अपनी शिकायत लेकर पहुंचे।

इतने बुजुर्ग जो चलने को भी मोहताज थे, उनके साथ ये सुलूक देखकर उनका दिल पसीज उठा। वह खुद बुजुर्ग दंपति को अपनी गाड़ी से लेकर फोर्स के साथ उनके घर पहुंचे। पुलिस ने घर में मौजूद बेटे अभिषेक और बहू मनीषा को हिरासत में लिया। इसके बाद बुजुर्ग की तहरीर पर बेटे बहू के खिलाफ चकेरी थाने में एफआईआर दर्ज करके जेल भेज दिया गया। हांलाकि, एफआईआर मारपीट की धाराओं में हुई थी, लेकिन उनकी हरकतों को देखते हुए जमानत नहीं दी गई और जेल भेज दिया गया।

पुलिस कमिश्नर को हाथ जोड़कर धन्यवाद देते पीड़ित बुजुर्ग।
पुलिस कमिश्नर को हाथ जोड़कर धन्यवाद देते पीड़ित बुजुर्ग।

बुजुर्ग दंपति के कमरे में बेटे-बहू ने लगा रखा था ताला
कमिश्नर जब बुजुर्ग दंपति को लेकर उनके घर पहुंचे तो उनकी ओर से बताई गई प्रताड़ना की हर एक दास्ता बिल्कुल सच निकली। बुजुर्ग दंपति के कमरे में बेटे बहू ने ताला लगा रखा था। कमिश्नर से ताला खुलवाया तब जाकर बुजुर्ग दंपति ने राहत की सांस ली। इतनी फोर्स देखकर बेटे-बहू दंग रह गए और उनकी कलई खुल गई। मौके से ही पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया और फिर एफआईआर दर्ज करके जेल भेज दिया गया।

पुलिस कमिश्नर को बेटे की करतूत बताते मां-बाप।
पुलिस कमिश्नर को बेटे की करतूत बताते मां-बाप।

सभी थानेदारों को कमिश्नर ने दी हिदायत
चौकी - थाने में सुनवाई नहीं होने के चलते बुजुर्ग दंपति बेटे और बहू की महीनों से प्रताड़ना झेल रहे थे। कमिश्नर तक मामला पहुंचा तब जाकर कार्रवाई हो सकी। इसे देखते हुए कमिश्नर ने सभी थानेदारों को हिदायत दी है कि सीनियर सिटीजन की सभी समस्याओं को थानेदार प्राथमिकता पर समाधान करें। अगर बुजुर्ग फरियादी थाने के चक्कर काटते या सुनवाई नहीं होने की शिकायत मिली तो थानेदार के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...