• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Son Told After Selling Mother's Jewelry And Farm, Deposited 7 Lakh Rupees In The Hospital, Now More Money Is Being Asked कानपुर में ओवर बिलिंग पर हॉस्पिटल में हंगामा

कानपुर में ओवर बिलिंग पर हॉस्पिटल में हंगामा:बेटे ने बताया- मां के जेवर और खेत बेचकर 7 लाख रुपए हॉस्पिटल में जमा कर दिए, अब और पैसे मांगा जा रहा है

कानपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कानपुर के कल्याणपुर थाना के अंतर्गत एक निजी अस्पताल संचालक पर परिजनों ने ओवर बिलिंग का आरोप लगा कर हंगामा किया। परिजनों का कहना है कि हॉस्पिटल प्रशासन लाखों रुपए जमा करा चुका है। लेकिन मरीज की हालत में कोई सुधार होता नहीं दिख रहा है। इसके बावजूद हॉस्पिटल वाले और पैसे की मांग कर रहे हैं।

परिजन मनोज का कहना है कि वह मां के जेवर और खेत बेचकर सात लाख रुपए जोड़ पाया था और सारे पैसे हॉस्पिटल में जमा कर दिए। लेकिन शनिवार दोपहर को हॉस्पिटल कर्मचारियों ने फिर पैसा जमा करने की बात कही। जिससे परिजन भड़क गए।

कन्नौज के तिर्वा गांव बारापुर गांव निवासी सत्य प्रकाश किसान हैं, परिवार में पत्नी अरुण प्रभा बेटा मनोज हैं। मनोज ने बताया कि पिता को निमोनिया की शिकायत हो गाई थी। पहले कई दिनों तक गांव में ही उपचार कराते रहे, लेकिन जब कोई लाभ नहीं मिला तो वह पिता को कल्याणपुर के न्यू पल्स हॉस्पिटल ले गए। वहां मौजूद हॉस्पिटल संचालक डॉ. महेंद्र वर्मा ने पिता की हालत गंभीर होने की बात कहते हुए आईसीयू में रखने की बात कही और रोज का आईसीयू का तीस हजार रुपए चार्ज बताया।

आरोप हैं कि पिता बुजुर्ग को करीब दस दिन हॉस्पिटल में भर्ती किए हो गए हैं। लेकिन उनकी हालत में कोई सुधार नहीं हो रहा है। दस दिन के अंदर हॉस्पिटल संचालक ने करीब सात लाख रुपए जमा करा चुके हैं। उसके बाद भी और पैसे की मांग कर रहा है।

यह पहला मामला नहीं है

ओवर बिलिंग का यह कोई पहला मामला नहीं है, हाल ही में शहर के दो बड़े अस्पतालों के खिलाफ इस मामले में मुकदमा भी हो चूका है।

स्टाफ को लेकर हुई कहासुनी

इस मामले हॉस्पिटल के डॉ. महेंद्र वर्मा ने बताया कि स्टाफ के साथ कहासुनी होने के बाद मरीज के परिजन हंगामा करने लगे। दरअसल, परिजनों ने एक पूरा प्राइवेट रूम अपने पास रख लिया था। जब मरीज की हालत बिगड़ी तो उसे हमने वेंटिलेटर पर रखा। जब किसी मरीज को हम आईसीयू में रखते हैं, तो उसे वह रूम खाली करना होता है। इसी को लेकर हॉस्पिटल स्टाफ के साथ कुछ कहासुनी हो गई थी।