• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Tell The Kidnapper ... 10 Lakh Ransom Was Not Found And Then The Police Fell Behind, Killing The Kidnapped Youth And Burying The Dead Body.

अहपरण कर हत्या का आरोपी कानपुर से गिरफ्तार:अपहरणकर्ता बोला- 10 लाख फिरौती नहीं मिली तो कर दी हत्या; लुधियाना में शव दफनाकर भाग रहे थे गांव

कानपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कानपुर सेंट्रल से अपहरण के बाद हत्या करने के आरोपी शत्रुघन को पुलिस ने किया गिरफ्तार - Dainik Bhaskar
कानपुर सेंट्रल से अपहरण के बाद हत्या करने के आरोपी शत्रुघन को पुलिस ने किया गिरफ्तार

पंजाब के लुधियाना में 18 साल के युवक का अपहरण करने के बाद हत्या करके भागने के एक आरोपी को कानपुर पुलिस ने सेंट्रल स्टेशन पर दबोच लिया। जबकि उसका दूसरा साथी पुलिस को चकमा देकर भाग निकला। पंजाब पुलिस के इनपुट पर कानपुर पुलिस और जीआरपी ने जाल बिछाकर एक आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता मिली। दोनों फिरौती नहीं मिलने पर हत्या करके ट्रेन से बिहार अपने गांव भाग रहे थे। पंजाब पुलिस भी कानपुर पहुंच गई और अब ट्रांजिट रिमांड पर आरोपी को यहां से ले जाएगी।

मृतक नितीश का फाइल फोटो
मृतक नितीश का फाइल फोटो

फिरौती नहीं मिली और पुलिस पीछे पड़ी तो कर दी अपहृत युवक की हत्या
कलक्टरगंज थाना प्रभारी संजीवकांत मिश्रा ने बताया कि पकड़े गए आरोपित ने अपना नाम बिहार के वैशाली जिले का रायपुर निवासी शत्रुघन कुमार बताया है। जबकि उसका दूसरा साथी राकेश भी वैशाली जिले के पत्तोंपुर का रहने वाला है। वह पुलिस को चकमा देरक भाग निकला। शत्रुघन ने बताया कि वह राकेश के साथ पंजाब की एक फैक्ट्री में काम करता था। आर्थिक तंगी होने के चलते दोनों ने सहकर्मी प्रमोद के बेटे नितीश (18) के अपहरण का प्लान बनाया। इसके बाद प्लान के मुताबिक नितीश का अपहरण कर लिया और 10 लाख रुपए की फिरौती मांगी। 25 हजार रुपए खाते में भी ट्रांसफर करवा लिया। पुलिस ने फिरौती वाले नंबर और अकाउंट नंबर से दोनों को चिह्नित करके दबिश देना शुरू किया तो नितीश की हत्या करके उसे कमरे के पीछे दफन कर दिया। इसके बाद दोनों बिहार अपने गांव जाने के लिए ट्रेन से भाग रहे थे। लुधियाना पुलिस से इनपुट मिलने पर सेंट्रल स्टेशन पर रविवार रात को घेराबंदी करके शत्रुघन को दबोच लिया। सोमवार दोपहर पंजाब पुलिस भी पहुंच गई। अब आरोपित को ट्रांजिट रिमांड पर पंजाब पुलिस ले जाएगी और नितीश का शव बरामद करने के साथ ही आरोपी को जेल भेजेगी।

अपहरण के बाद यह फोटो भेजकर मांगी थी फिरौती की रकम
अपहरण के बाद यह फोटो भेजकर मांगी थी फिरौती की रकम

अपहरण के बाद व्हाट्सएप पर भेजी थी बेटे की घायल हालत में तस्वीर
मूलरूप से बिहार राज्य के छपरा जिले में जनता बाजार थानाक्षेत्र के कटियाना निवासी प्रमोद कुमार पंजाब के लुधियाना में माछीवाड़ा थाना क्षेत्र की एक फैक्ट्री में नौकरी करते हैं। इसके साथ ही माछीवाड़ा- कुहाड़ा रोड इराक गांव में परिवार समेत किराए पर रहते हैं। परिवार में पत्नी इकलौता बेटा नितीश कुमार (18) और एक बेटी काजल है। 4 सितंबर को प्रमोद कुमार ने बांसी वाला थाने पहुंचकर अपने बेटे नितीश के अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। उन्होंने पुलिस को बताया था कि एक अनजान नंबर से उनकी बेटी काजल के मोबाइल पर कॉल आई, जिसमें अपहरणकर्ता ने 5 लाख की फिरौती मांगी थी, नहीं देने पर नितीश की हत्या की धमकी दी थी। इसके साथ ही नितीश के पिटाई करते हुए घायल हालत में एक फोटो भी व्हाट्सएप पर शेयर की थी। कहा था कि पुलिस को बताया तो तुम्हारे बेटे की हत्या कर देंगे।

खबरें और भी हैं...