पुलिस के टार्चर से परेशान लड़के ने लगाई फांसी:कानपुर के परिवार ने कर्ज लेकर सिपाही को 50 हजार की रिश्वत भी दी, फिर भी नहीं छोड़ा

कानपुर21 दिन पहले

कानपुर में पुलिस के टार्चर से परेशान होकर किशोर ने गुरुवार रात को फांसी लगाकर जान दे दी। आरोप है कि सिपाही ने रुपए नहीं देने पर उसे जेल भेजने की धमकी दी थी। इससे डर कर उसने फांसी लगा लिया। परिजनों ने आरोपी सिपाही के खिलाफ FIR दर्ज कराने की मांग की है। उनका कहना है कि जब तक आरोपी सिपाही के खिलाफ कार्रवाई नहीं होगी। वे शव का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। उन्होंने प्रदर्शन की भी चेतावनी दी है।

पोस्टमार्टम हाउस में मृतक बंटू के पिता और भाई हाथ जोड़कर इंसाफ की गुहार लगाते हुए।
पोस्टमार्टम हाउस में मृतक बंटू के पिता और भाई हाथ जोड़कर इंसाफ की गुहार लगाते हुए।

पुलिस ने गांजा पीते पकड़ा था

बंटू सोनकर (17) भन्नानापुरवा का रहने वाला था। उसके पिता राजू सोनकर सिक्योरिटी गार्ड का काम करते हैं। उन्होंने बताया कि उनके छोटे बेटे बंटू सोनकर (17) को एक बार रायपुरवा थाने के सिपाही अश्वनी ने गांजा पीते पकड़ लिया था। इसके बाद जेल भेजने की धमकी देकर सिपाही अश्वनी ने पहले 20 हजार की वसूली की थी। अब तक ब्याज पर रुपए लेकर सिपाही को 50 हजार रुपए बंटू और उसका परिवार दे चुका था।

इसके बाद भी सिपाही की प्रताड़ना खत्म नहीं हो रही थी। बंटू पर नशा करने वाले उसके साथियों को पकड़वाने और उनसे भी वसूली कराने का दबाव बनाता था। आरोप है कि रायपुरवा पुलिस ने बंटू की मदद से चोरी और मादक पदार्थों की बरामदगी को लेकर गुडवर्क भी किया था। लेकिन इसके बाद भी रुपए मांगना बंद नहीं हुआ। सिपाही लगातार वसूली और गुडवर्क कराने का दबाव बना रहा था।

इससे आहत होकर गुरुवार रात को बंटू ने फांसी लगाकर जान दे दी। घरवालों को सुबह में दरवाजा नहीं खुलने पर परिजनों को घटना की जानकारी हुई। उन्होंने सिपाही पर प्रताड़ना आरोप लगाया है। इसके साथ ही आरोपी सिपाही के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की है।

आत्महत्या की सूचना मिलने के बाद मौके पर जमा लोगों की भीड़।
आत्महत्या की सूचना मिलने के बाद मौके पर जमा लोगों की भीड़।

सिपाही की कॉल रिकॉर्डिंग समेत कई अहम साक्ष्य

परिजनों ने कहा कि उनके पास रायपुरवा थाने के आरोपी सिपाही अश्वनी की कॉल रिकॉर्डिंग भी मौजूद है, जो उनके बेटे को वसूली के लिए बार-बार कॉल करता था। थाना प्रभारी और एसीपी को साक्ष्य देने के बाद भी एफआईआर दर्ज करने से इनकार कर दिया है। जांच का हवाला देकर पुलिस कार्रवाई से बच रही है।

कार्रवाई नहीं हुई तो सड़क पर उतरेंगे परिजन

बंटू के पिता राजू और भाई जसवंत और प्रांशु के साथ ही इलाके के सैकड़ों लोगों ने इस घटना पर नाराजगी जाहिर की है। उनका कहना है कि अगर मामले में आरोपी सिपाही के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं हुई तो वे सड़क पर उतरकर प्रदर्शन करेंगे। जब तक आरोपी सिपाही के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं हो जाती शव का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे।

बंटू के पिता राजू और भाई जसवंत और प्रांशु के साथ ही इलाके के सैकड़ों लोगों ने इस घटना पर नाराजगी जाहिर की है।
बंटू के पिता राजू और भाई जसवंत और प्रांशु के साथ ही इलाके के सैकड़ों लोगों ने इस घटना पर नाराजगी जाहिर की है।

ACP ने जांच का हवाला देकर पल्ला झाड़ा
एसीपी अनवरगंज अकमल खान ने बताया कि परिजनों ने मामले में अभी तक कोई तहरीर नहीं दी है। तहरीर मिलने के बाद वह मामले में कार्रवाई करेंगे। आरोपी सिपाही के खिलाफ विभागीय जांच की जा रही है। दोषी पाए जाने पर उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। यह भी बताया कि बंटू पर रायपुरवा थाने में चोरी, शांति भंग और आबकारी अधिनियम समेत कई मुकदमे दर्ज हैं।

भीम आर्मी और आम आदमी पार्टी करेगी घेराव

परिजनों के घर भीम आर्मी और आम आदमी पार्टी के पदाधिकारी और कार्यकर्ता पहुंच गए हैं। उन्होंने आरोपी सिपाही के खिलाफ कार्रवाई और बंटू के परिजनों को मुआवजा देने की मांग की है। अगर मांग पूरी नहीं होगी तो शव रखकर सड़क जाम करने की चेतावनी दी है।

खबरें और भी हैं...