• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • The Allegation Of The Complainants Arrived With The Complaint Of Land Acquisition, The IAS Officer Had Said That If You Convert, It Will Be Of More Help Than Expected, The Book Written By You Was Also Distributed.

UP में धर्मांतरण की पाठशाला वाले IAS की नई करतूत:इफ्तिखारुद्दीन ने कहा था- धर्म बदल लोगे तो उम्मीद से ज्यादा मदद मिलेगी; अपनी शुद्ध भक्ति नाम की धार्मिक किताब भी बांटी थी

कानपुर21 दिन पहले

उत्तर प्रदेश में कट्‌टरता की पाठशाला का वीडियो सामने आने के बाद सीनियर IAS इफ्तिखारुद्दीन का एक और बड़ा खुलासा हुआ है। एक समाजसेवी और सीटीएस बस्ती कल्याणपुर के लोगों ने मंगलवार को दावा किया कि IAS अफसर के लोगों ने उन पर धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाया था। शुद्ध भक्ति नाम की किताब भी बांटी है।

भ्रष्ट तंत्र विनाशक शनि मंदिर चलाने वाले रॉबी शर्मा और सीटीएस बस्ती के निर्मल ने इफ्तिखारुद्दीन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि मेट्रो की डीपीआर में इफ्तिखारुद्दीन ने गलत तरीके से लोगों की जमीन शामिल करवा ली थी। जब पीड़ित उनसे मिलने पहुंचे थे, तो उनको भगा दिया गया।

इसके बाद उनके कुछ आदमियों ने बस्ती में आकर धर्मांतरण करने पर मदद करने की बात कही। उन लोगों ने मो. इफ्तिखारुद्दीन की लिखी किताब भी बांटी थी। उन्होंने लालच दिया था कि इसके बाद उनकी जमीन वापस मिल जाएगी। उम्मीद से ज्यादा मदद होगी। इतना ही नहीं, पीड़ितों से सुअर खाना बंद करने की भी बात कही गई थी। इसके बाद पब्लिक ने उनका विरोध भी किया था, लेकिन कहीं सुनवाई नहीं हुई थी। अब मामला सामने आने के बाद पब्लिक भी सामने आ गई है।

वीडियो में चौबेपुर का मोइनुद्दीन है IAS के साथ IAS इफ्तखारुद्दीन के साथ वीडियो में धर्म परिवर्तन की अपील कर रहे युवक की पहचान चौबेपुर निवासी मोइनुद्दीन के रूप में हुई है। सीटीएस बस्ती के लोगों ने बताया कि मोइनुद्दीन ही बस्ती के लोगों पर धर्मांतरण का दबाव बना रहा था। धर्मांतरण के लिए प्रभावित करने के लिए उसने रुपए-पैसे से लेकर बच्चों को मुफ्त शिक्षा, मकान समेत अन्य मदद करने का भरोसा दिलाया था।

IAS की धार्मिक किताब 'शुद्ध भक्ति' भी आई सामने
मुस्लिम धर्म के लिए प्रेरित करने वाली सीनियर आईएएस की लिखी एक किताब शुद्ध भक्ति भी सामने आई है। किताब के ऊपर लिखा है- या अल-कुरआन सूरह अल-बकरा आयत संख्या-21 का वर्णन इस किताब में है। इसका हिन्दी में अनुवाद भी लिखा है- ऐ मानव जाति, भक्ति करो अपने रब की। जिसने तुमको रचा, उसी ने तुम्हारे पूर्वजों को भी रचा। जिससे कि तुम बच सके हो...।

खबरें और भी हैं...