सीनेट में पांच कॉलेजों ने की परीक्षा परिणाम की शिकायत:कमेटी ने कहा जांच करके अपडेट कराया जाएगा रिजल्ट, करीब 600 से ज्यादा बच्चों का भविष्य है अधर में

कानपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय - Dainik Bhaskar
छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय

छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय (सीएसजेएमयू) में मंगलवार को सीनेट हॉल में मुख्य परीक्षा परिणामों में हुई गलतियों को यूनिवर्सिटी प्रशासन ने सुना। कमेटी के सामने संबद्ध महाविद्यालयों से प्राचार्य या उनके प्रतिनिधियों ने आकर छात्रों की शिकायतों को बताया। कुल पांच कॉलेजों से प्राचार्य या उनके प्रतिनिधियों ने आकर लगभग 500 से अधिक छात्र छात्राओं की शिकायत दर्ज कराई। साथ ही उन्होंने बताया कि आने वाले समय में यह छात्र एक बार फिर से आंदोलन करने की तैयारी में है।

स्क्रूटनी प्रक्रिया शुरू हो चुकी है...
डीन प्रशासन प्रो. सुधांशु पांड्या ने बताया कि शिकायतों में विषयों में अनुपस्थिति, नंबर कम आने, अपनी शीट ही खाली छोड़ दी थी और पर्यावरण अध्ययन की परीक्षा में विसंगतियां सामने आई है। शिकायतों पर जांच कराकर परीक्षा परिणाम को अपडेट किया जाएगा। विवि में स्क्रूटनी प्रक्रिया सोमवार से शुरु हो चुकी है। परीक्षा परिणाम से असंतुष्ट छात्र आवेदन कर सकते हैं। सभी महाविद्यालयों से कहा कि छात्रों को विवि न भेजकर उनकी शिकायत को प्राचार्य के माध्यम से विवि भेंजे। छात्र अनुशासन में रहते हुए कोई भी ऐसी गतिविधि न करें, जिससे विवि का माहौल खराब हो। शिकायत सुनने वाली कमेटी में डीन प्रशासन, चीफ प्रॉक्टर प्रो. संजय स्वर्णकार, डीएसडब्ल्यू डॉ. सुधीर कुमार अवस्थी, सहायक रजिस्ट्रॉर (परीक्षा) अजीत प्रताप सिंह और सहमीडिया प्रभारी डॉ. विवेक सिंह सचान शामिल थे।

सिर्फ पांच कॉलेजों से ज्यादा शिकायतें है...
आपको बता दें इन कॉलेजों से आई शिकायत जिनमे अर्मापुर पीजी कॉलेज, भगवंती एजुकेशन सेंटर डिग्री कॉलेज मंधना, बीएसएम कॉलेज कन्नौज, जुहारी देवी गर्ल्स पीजी कॉलेज। इसके अलावा कई और कॉलेज भी है जिनकी शिकायत मिलकर आकड़ा 600 के ऊपर आका जा रहा है।

खबरें और भी हैं...