• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • The Councilor Accused The Mayor Of Obstructing The Development Work, Said The Ongoing Development Work Was Also Stopped, Warned Of Fasting Till Death, Complained To The Chief Minister, Kanpur Nagar Nigam, Kanpur Mayor, BJP, CM Yogi Adityanath, Shastri Nagar, Kanpur

भाजपा पार्षद और महापौर में खींची तलवारें:पार्षद ने महापौर पर विकास कार्य बाधित करने का लगाया आरोप, कहा चल रहे विकास कार्य भी रोक दिए, आमरण अनशन की चेतावनी, मुख्यमंत्री तक शिकायत

कानपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महापौर प्रमिला पांडेय और पार्षद राघवेंद्र मिश्रा। - Dainik Bhaskar
महापौर प्रमिला पांडेय और पार्षद राघवेंद्र मिश्रा।

कानपुर नगर निगम में भाजपा पार्टी के पार्षद और महापौर विकास कार्यों को लेकर फिर से आमने-सामने आ गए हैं। वार्ड-91 शास्त्री नगर से भाजपा पार्षद राघवेंद्र मिश्रा ने महापौर प्रमिला पांडेय पर गंभीर आरोप लगाए हैं। पार्षद के मुताबिक महापौर के निर्देश पर वार्ड में चल रहे विकास कार्य रोक दिए गए हैं। पार्षद ने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और नगर विकास मंत्री समेत पार्टी के शीर्ष पदाधिकारियों से भी की है।

पार्षद ने लगाए गंभीर आरोप
पार्षद ने अपने पत्र में कहा है कि वार्ड में चल रहे विकास कार्य बंद करा दिए गए हैं। स्वीकृत इस्टीमेट के टेंडर नहीं हो रहे हैं। वार्ड की सभी फाइलें महापौर कार्यालय में पहले जाती हैं। इसके बाद से वापस नहीं आती हैं। पार्षद ने कहा कि अगर 1 हफ्ते में वार्ड में विकास कार्य शुरू नहीं हुए तो नगर निगम मुख्यालय में महापौर के खिलाफ आमरण अनशन करेंगे।

भाजपा पार्षद के पत्र का पहला पेज।
भाजपा पार्षद के पत्र का पहला पेज।

राजनीतिक माहौल हुआ गर्म
भाजपा पार्षद ने महापौर पर गंभीर आरोप लगाते हुए महापौर कार्यालय में पत्र भी रिसीव कराया है। इसके बाद से नगर निगम में राजनीतिक माहौल एक बार फिर से गर्मा गया है। बता दें कि पार्षद और महापौर के बीच शुरूआत से ही अनबन चली आ रही है। वहीं भाजपा के पार्षदों में ही अब गुटबाजी शुरू हो गई है। इसमें कुछ वे पार्षद हैं जो महापौर के साथ हैं और कुछ पार्षद अंदरखाने उनके विरोध में आ गए हैं।

पत्र का दूसरा पेज।
पत्र का दूसरा पेज।

भाजपा पार्षदों में ही 2 गुट
वहीं भाजपा पार्षदों में 2 गुट बन गए हैं। एक गुट महापौर के साथ रहता है। जबकि दूसरा भाजपा पार्षदों का गुट उनके विरोध में रहता है। इसमें पूर्व उपसभापति समेत कई वरिष्ठ पार्षद भी शामिल हैं। पूरे मामले में महापौर प्रमिला पांडेय ने बताया कि मैं अलीगढ़ में स्व. कल्याण सिंह की श्रद्धांजलि सभा में थी। पार्षद ने क्या आरोप लगाए हैं, मुझे इसकी जानकारी नहीं हैं। ऑफिस पहुंचकर पूरे मामले की जानकारी करूंगी। मेरी किसी भी पार्षद के प्रति कोई गलत मंशा नहीं हैं।

सदन में भी सामने आई थी गुटबाजी
बीते साल हुए नगर निगम सदन में भाजपा पार्षद व उपनेता सदन और महापौर प्रमिला पांडेय के बीच जमकर घमासान हुआ था। महापौर ने उपनेता सदन को सदन से निष्कासित भी कर दिया था। इसमें एक भाजपा पार्षद रमेश चंद्र हठी ने उपनेता सदन महेंद्र नाथ शुक्ला पर ही दुकान कब्जाने समेत कई गंभीर आरोप लगाए थे। इसके बाद भाजपा पार्षद ने ही स्वरूप नगर थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी। इसमें क्षेत्रीय अध्यक्ष मानवेंद सिंह ने दखल देकर मामला शांत कराया था। ये मामला भी मुख्यमंत्री और पार्टी के शीर्ष नेताओं तक गया था।

खबरें और भी हैं...