आईआईटी तकनीकी रूप से लद्दाख के स्टूडेंट को करेगा मजबूत:समझौते का मसौदा हुआ तैयार, बहुत जल्द लद्दाख के स्टूडेंट्स ट्रेनिंग लेने आएंगे कानपुर

कानपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लद्दाख के छात्र-छात्राओं को तकनीकी रूप से मजबूत करने के लिए आईआईटी कानपुर मदद करेगा। संस्थान जल्द ही लद्दाख सरकार के साथ समझौता कर विभिन्न तरह के तकनीकी प्रोग्राम का आयोजन करेगा और उन्हें समृद्ध बनाएगा। यह बातें लेह में हुई एक बैठक के दौरान तय हुई। जहां आईआईटी कानपुर के निदेशक प्रो. अभय करंदीकर व लद्दाख के एलजी आरके माथुर के साथ आईआईटी बांबे के निदेशक प्रो. सुभासीस चौधरी, आईआईटी दिल्ली के निदेशक प्रो. रामगोपाल राव भी मौजूद रहे।

बैठक कर तय हुई रूपरेखा...

लेह के एलजी और आईआईटी कानपुर के पूर्व छात्र आरके माथुर की अगुवाई में एक बैठक हुई। जिसमें लद्दाख के छात्रों को लेकर चर्चा हुई। छात्रों को तकनीकी रूप से मजबूत करने के लिए एलजी ने विभिन्न आईआईटी से मदद मांगी। बैठक में तय हुआ कि जल्द सभी आईआईटी अलग-अलग विषयों पर समझौता कर लद्दाख व वहां के छात्रों को तकनीकी रूप से मजबूत करेंगे।

जॉइंट वेंचर में तैयार होंगे कार्यक्रम...

लद्दाख के उपराज्यपाल ने पिछले दिनों आईटी कानपुर को एक ब्लू प्रिंट तैयार करके करके भेजा गया था। जिसमें तकनीकी तौर पर लद्दाख के छात्र छात्राओं को ट्रेनिंग देने की बात कही गई थी। इस पर अब बात आगे बढ़ चुकी है। जिसके तहत आईआईटी कानपुर से एक प्रतिनिधि मंडल लद्दाख पहुंचा और उनकी बातचीत को समझने की कोशिश गयी। इसके बाद साझा कार्यक्रम तय किया गया। अब आईआईटी कानपुर तकनीकी तौर पर वहां हर साल टॉप स्टूडेंट्स को तकनीकी तौर पर तैयार करेगा।

खबरें और भी हैं...