• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • The Girl Was Being A Victim Of Bad Touch Every Day For The Past One Month, The Accused Said... While Watching Porn Movies, Sex Was Dominating Her Mind

बच्ची से किशोर के रेप करने का मामला:बच्ची बीते एक महीने से रोजाना हो रही थी बैड टच का शिकार, आरोपी बोला...पोर्न फिल्में देखते-देखते दिमाग पर सेक्स हो गया था हावी

कानपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बिधनू पुलिस ने साढ़े तीन साल की बच्ची से दुष्कर्म के आरोपी 13 साल के किशोर को भेजा बाल संप्रेक्षण गृह। - Dainik Bhaskar
बिधनू पुलिस ने साढ़े तीन साल की बच्ची से दुष्कर्म के आरोपी 13 साल के किशोर को भेजा बाल संप्रेक्षण गृह।

बिधनू में साढ़े तीन साल की बच्ची से 13 साल के किशोर के रेप कांड की जांच में कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आ रहे हैं। जांच में सामने आया है कि किशोर बीते एक महीने से रोजाना बच्ची को खिलाने के बहाने बैड टच करता था। पोर्न फिल्में दखने के बाद उसने यह सब शुरू किया। इसके बाद उसके दिमाग पर यह सब इतना हावी हो गया कि जिसे वह रोजाना खिलाता था, दुलारता था उसी साढ़े तीन साल की बच्ची को दबोचकर रेप कर दिया। बच्चे ने यह बात पूछताछ के दौरान बताई।
पोर्न फिल्में देखने के बाद मुझे कुछ समझ नहीं आया...
बिधनू में सोमवार की देर शाम को एक 13 साल के किशोर ने साढ़े तीन साल की बच्ची को दबोचकर उसके साथ दुष्कर्म किया। बच्ची चीखी-चिल्लाई तो उसके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया था। मामले में नाबालिग आरोपी को किशोर न्याय बोर्ड के सामने मंगलवार को पेश किया गया था। बच्चे से गहनता से पूछताछ और बिधनू थाने की पुलिस की जांच में सामने आया कि पोर्न फिल्में देखने के बाद उसने घटना को अंजाम दिया। बीते एक महीने से वह बच्ची को बैड टच करता था। इतना ही नहीं दो बार रेप का प्रयास भी कर चुका था, लेकिन घर में परिजनों के होने के चलते उसे मौका नहीं मिला और बच्ची के चीखने या रोने पर छोड़ दिया था। इस बार पूरी प्लानिंग के तहत जब घर पर कोई नहीं था तो उसने घटना को अंजाम दिया। उसने बताया कि पोर्न फिल्म देखते-देखते दिमाग पर यह सब इतना हावी हो गया कि उसे कुछ समझ ही नहीं आया कि क्या कर डाला। पेशी के बाद किशोर को नौबस्ता के बाल संप्रेक्षण गृह भेज दिया गया।

बच्ची की बात नहीं समझ सके थे परिजन
बच्ची की मां ने बताया कि उनकी बेटी के साथ पहले भी आरोपी ने दो बार अश्लीलता या फिर रेप का प्रयास किया था। इस बात को बच्ची ने घर में भी बताया था। बच्ची को नहलाने के दौरान उसके अंडर गारमेंट में खून भी मिला था, लेकिन वह समझ नहीं सकी थीं। अब बच्ची के साथ रेप कांड हुआ तो बच्ची की सभी बातें दिमांग में कौंध गईं और उसका एक-एक इशारा परिजन समझ सके। अगर पहले ही बच्ची का इशारा समझ जाते तो शायद बच जाती।

सिविल ड्रेस में पुलिस ने की पूरी कार्रवाई
बच्ची से रेप का आरोपी भी नाबालिग है। इसके चलते बिधनू एसओ अतुल कुमार सिंह ने बताया कि आरोपी किशोर की गिरफ्तारी से लेकर उससे पूछताछ और फिर किशोर न्याय बोर्ड के सामने पेश करने तक पुलिस का पूरा स्टाफ सिविल ड्रेस में रहा। इससे कि बच्चे के दिमाग पर किसी भी तरह का कोई नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ सके।

खबरें और भी हैं...