पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कानपुर में महिला कैदी की मौत:जेल में बंद हत्यारोपी महिला बंदी की हॉस्पिटल में मौत, परिजनों ने लगाया इलाज नहीं कराने का आरोप

कानपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जेल में बंद हत्यारोपी महिला बंदी की हुई मौत। - Dainik Bhaskar
जेल में बंद हत्यारोपी महिला बंदी की हुई मौत।

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में जेल में हत्या के मामले में बंद एक महिला बंदी की रविवार को मौत हो गई। एक सप्ताह से उर्सला हॉस्पिटल में भर्ती थी, लेकिन हालत में कोई सुधार नहीं हुआ और मौत हो गई। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मौत का कारण साफ हो सकेगा। वहीं परिजनों ने जेल प्रशासन पर इलाज नहीं कराने का आरोप लगाया है।

पनकी में 26 मार्च 2021 की रात ओईएफ कर्मी के बेटे धीरज गुप्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने हत्याकांड में किरन (22) और सोनू को जेल भेजा था। जांच में सामने आया था कि किरन ने धीरज को बुलाया और उसके प्रेमी सोनू ने अपने साथियों संग मिलकर उसकी हत्या कर दी। हत्या के पीछे आशनाई और वर्चश्व की लड़ाई सामने आई थी।

जेल अधीक्षक आर के जायसवाल ने बताया कि किरन के पीट और रीढ़ की हड्डी में कोई बीमारी थी। पहले तो उसका जेल में इलाज चला लेकिन हालत बिगड़ने पर एक सप्ताह पूर्व 31 मई को उर्सला में भर्ती कराया था। हालत और नाजुक हुई तो उसे 4 जून को हैलट रेफर कर दिया गया। इसके बाद भी हालत में सुधार नहीं हुआ और रविवार को मौत हो गई।

जेल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप
मृतक किरन की मां ने आरोप लगाया है कि जेल में उसकी तबियत बिगड़ी तो उसे बेहतर इलाज नहीं दिया गया। इसके चलते उसकी रीड़ की हड्‌डी की समस्या और बढ़ गई। हालत गंभीर होने पर उसका इलाज शुरू कराया गया। इसके चलते किरन की मौत हो गई।