श्रमिक कॉलोनियों में नोटिस जारी करने पर काँग्रेस का प्रदर्शन:पार्टी की महिला मोर्चा ने श्रमायुक्त मुख्यालय पर कॉलोनी वासियों साथ किया विरोध

कानपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
श्रम आयुक्त कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन करते कांग्रेसी - Dainik Bhaskar
श्रम आयुक्त कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन करते कांग्रेसी

श्रम कालोनियों को नोटिस जारी करने के बाद से राजनीति शुरू हो चुकी है। शहर की श्रम कालोनियो के स्वामित्त सालो से लंबित है। निवासियों द्वारा स्वामित्व दिए जाने की मांग लंबे समय से उठाई जा रही है। इसी बीच श्रम विभाग द्वारा श्रम कालोनियों में रहने वाले परिवारों को नोटिस थमा दिया गया है। जिसमे ना सिर्फ कालोनियों को खाली करने को कहा गया है बल्कि उन पर 20 20 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। गुरुवार इस मामले पर काँग्रेस ने श्रम कार्यालय के बाहर नारेबाजी कर प्रदर्शन किया।

स्वामित्व की जगह मिला नोटिस

लेबर कॉलोनी में रहने वाले अटल दुबे उर्फ टीटू ने बताया कि यहां पर रहने वाले सभी लेबर कलोनी के मालिक बनने का इंतजार कर रहे थे। ऐसे में कॉलोनी खाली करने और 20 लाख का जुर्माने की नोटिस से सभी अचंभित और परेशान है। इसी के विरोध में महिला कॉंग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष करिश्मा ठाकुर के नेतृत्व में इसका विरोध किया गया। कांग्रेसियों ने मांग की है कि श्रमिक कालोनियों में रहने वाले श्रमिकों को उनका मालिकाना हक दिया जाए। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि नोटिस और जुर्माने को वापस किया जाए।

मांग नही मानने पर आंदोलन की धमकी,

करिश्मा ठाकुर ने भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुये कहा कि सरकार हर वादे की तरह इस वादे को भी भूल गई है। अगर सरकार ने मांग नही मानी तो भूख हड़ताल करेंगे। उसके बाद भी अगर सरकार नही जागी तो हम लोग विधानसभा घेरने का कार्य करेंगे।

खबरें और भी हैं...