पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कानपुर में लोड बढ़ा तो बिजली संकट गहराया:12 घंटे बिजली-पानी के लिए तरसी 12 लाख की आबादी, पेड़ों की कटाई-छंटाई के नाम पर चल रहे शटडाउन

कानपुर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बिजली की मांग बढ़ने से 18 सब स्टेशन में अलग अलग तरह के फाल्ट सामने आए।- प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
बिजली की मांग बढ़ने से 18 सब स्टेशन में अलग अलग तरह के फाल्ट सामने आए।- प्रतीकात्मक फोटो

कानपुर में बिजली का लोड बढ़ने के साथ कटौती की समस्या बढ़ने लगी है। मंगलवार को कई क्षेत्रों में लगभग 12 घंटे तक बिजली नहीं आई। इससे इनवर्टर बैकअप भी खत्म हो गए। लंबी कटौती की वजह से जलापूर्ति भी प्रभावित रही। वहीं, बिजली की मांग बढ़ने से 18 सब स्टेशन में अलग अलग तरह के फाल्ट सामने आए। महानगर में बिजली की समस्या से लगभग 12 लाख से अधिक आबादी प्रभावित रही।

शहर के कई क्षेत्रों में गुल रही बिजली

कानपुर इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई कंपनी (केस्को) के 20 से 22 घंटे की बिजली आपूर्ति के दावे सरासर झूठे साबित हो रहे हैं। कानपुर के पनकी क्षेत्र के बी और सी ब्लॉक में सोमवार की रात गुल हुई बिजली दोपहर बाद तक नहीं आई थी। बी ब्लॉक में रहने वाले आराध्य श्रीवास्तव ने बताया कि यहां सभी के घरों में इन्वर्टर भी डिस्चार्ज हो गए थे। घरों की पानी की टंकियां भी खाली हो गयी और सबमर्सिबल मोटर भी नहीं चल पाई। इसी तरह दामोदर नगर, दबौली का भी हाल रहा। स्थानीय सबलू गौतम का कहना है कि बिजली के हालात केस्को के बस में नहीं रहे है। केस्को के पीआरओ चंद्रशेखर अंबेडकर ने बताया कि कुछ क्षेत्रों में कटौती हुई है। फॉल्ट ज्यादा होने से आपूर्ति कुछ क्षेत्रों में प्रभावित है।

मरम्मत के नाम पर चल रहा शटडाउन

नवाबगंज सब स्टेशन में सुबह से शटडाउन किया गया। पेड़ों की छटाई के लिए दोपहर बाद यह फीडर चालू हो पाया। जिसके कारण आजाद नगर विष्णुपुरी, नवाबगंज की पूरी आबादी प्रभावित रही। इसी तरह फूल बाग सब स्टेशन में मेंटेनेंस के लिए 10 बजे से लेकर 2:30 बजे तक आपूर्ति बंद रखी गई। जिससे आरबीआई कॉलोनी, बिरहाना रोड, नया गंज तक आपूर्ति बन्द रही। गोविंद नगर सब स्टेशन में भी सुबह 8 बजे से लेकर 12 बजे तक शटडाउन रखा गया। वर्ल्ड बैंक बर्रा में भी 9 बजे से लेकर 2 बजे तक आपूर्ति बंद रही। देहली सुजानपुर में दोपहर 1 बजे से लेकर रात 10 बजे तक आपूर्ति नहीं शुरू हो पाई। यहां फीडर लाइन में आग लगने से देर रात तक मरम्मत कार्य चलता रहा। जाजमऊ, विकासनगर खंड, सर्वोदय नगर सहित 18 सबस्टेशन पर घंटों चली मरम्मत कार्य की वजह से लाखों की आबादी बुरी तरह से प्रभावित हुई।

खबरें और भी हैं...