कानपुर... सुपर स्पेशलिटी बनेगा मैकरॉबर्ट हॉस्पिटल:GSVM मेडिकल कालेज 8 नवंबर को प्रस्ताव भेजेगा, शासन ने प्रपोजल मांगा था

कानपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डॉ. संजय काला ने बताया कि मैकरॉबर्ट हॉस्पिटल जीएसवीएम मेडिकल कालेज का एक्सटेंशन ब्लॉक के नाम से ही जाना जाएगा। - Dainik Bhaskar
डॉ. संजय काला ने बताया कि मैकरॉबर्ट हॉस्पिटल जीएसवीएम मेडिकल कालेज का एक्सटेंशन ब्लॉक के नाम से ही जाना जाएगा।

कानपुर के लोगों को जल्द ही एक और सुपर स्पेशलिटी अस्पताल मिलेगा। मैकरॉबर्ट गंज स्थित मैकरॉबर्ट हॉस्पिटल को सुपर स्पेशलिटी अस्पताल बनाने का निर्णय लिया गया है। यहां सामान्य से लेकर जटिल हर तरह के मरीजों के ऑपरेशन होंगे। यह जानकारी जीएसवीएम मेडिकल कालेज के प्रिंसिपल डॉ. संजय काला ने दी। उन्होंने बताया कि जीएसवीएम मेडिकल कालेज का विस्तार किया जा रहा है। इसी के तहत मैकरॉबर्ट हॉस्पिटल को सुपर स्पेशलिटी बनाने का निर्णय लिया गया है। इसका प्रस्ताव लगभग तैयार हो गया है। सोमवार को इसे शासन को भेज दिया जाएगा।

सोमवार को भेजा जाएगा प्रपोजल...
डॉ. संजय काला ने बताया कि मैकरॉबर्ट हॉस्पिटल जीएसवीएम मेडिकल कालेज का एक्सटेंशन ब्लॉक के नाम से ही जाना जाएगा। जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज में 240 बेड का सुपर स्पेशलिटी अस्पताल बन रहा है। यह उसका एक्सटेंशन होगा। इसके लिए शासन की तरफ से प्रपोजल मांगा गया था। जो पूरी तरह तैयार है। सोमवार को इसे शासन को भेज दियाजाएगा। सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का निर्माण प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत कराया जाएगा। इसमें आठ नए विभाग बनाए गए हैं। साथ ही सभी आधुनिक सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी।

ये नए विभाग होंगे शुरू

पीडियाट्रिक सर्जरी विभाग, पीडियाट्रिक गैस्ट्रो एन्ट्रोलॉजी विभाग, मेडिकल ऑन्कोलॉजी विभाग, सर्जिकल ऑन्कोलॉजी विभाग, रूमेटोलॉजी विभाग और जीरियाटिक विभाग संचालित होंगे

चैरिटेबल हॉस्पिटल था मैकरॉबर्ट...
मैकरॉबर्ट हॉस्पिटल अभी तक चैरिटेबल ट्रस्ट की ओर से संचालित किया जा रहा था। अगस्त महीने में ट्रस्ट ने जिला प्रशासन को लैंड वापस कर दी थी। जिसके बाद जिला प्रशासन ने शासन को सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के निर्माण व संचालन की पेशकश की थी। सभी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद मैक्रोबर्ट हॉस्पिटल की जमीन को जिला प्रशासन ने टेकओवर कर लिया।

इसके बाद शासन को सुपर स्पेशलिटी हास्पिटल के निर्माण का प्रस्ताव भेजा था। इस पर शासन ने चिकित्सा शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव को पत्र लिखा था। प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा आलोक कुमार ने जीएसवीएम मेडिकल कालेज के प्राचार्य को पत्र लिखकर प्रस्ताव तैयार करके भेजने का निर्देश दिया है।

कई बिल्डरों की थी नज़र
मैक्रोबर्ट हॉस्पिटल जब चैरिटेबल ट्रस्ट की तरफ से संचालित किया जाता था। उस समय कई बिल्डरों की नजर इसकी जमीन पर थी। कई लोगों ने जमीन पर अपने नाम होने का दावा भी किया था। दरअसल इस हॉस्पिटल के ट्रस्ट के लोगों के आपसी मदभेद के कारण बिल्डर इस पर नजर बनाये हुए थे, लेकिन प्रशासन की सूझबूझ के चलते ऐसा हो नहीं पाया।

खबरें और भी हैं...